तेलंगाना में राहुल गांधी को भारी झटका,रद्द हुई मान्यता

0
1358
तेलंगाना में कांग्रेस को करारा झटका, मुख्य विपक्षी दल का दर्जा छिनाकांग्रेस ने विधान परिषद में मुख्य विपक्षी पार्टी का दर्जा गवां दिया क्योंकि इस दर्जे के लिए सदन की कुल क्षमता का 10वां हिस्सा होना जरूरी है.
तेलंगाना विधान परिषद में कांग्रेस ने मुख्य विपक्षी पार्टी का अपना दर्ज गंवा दिया है क्योंकि सदन में पार्टी के चार सदस्यों ने सत्तारूढ़ टीआरएस का दामन थाम लिया. कांग्रेस के चार एमएलसी शुक्रवार को दल बदल कर टीआरएस में शामिल हो गए और सदन के सभापति ने फौरन उन्हें सत्तारूढ़ पार्टी के सदस्य के तौर पर मान्यता दे दी.
तेलंगाना में 40 सदस्यीय विधान परिषद में कांग्रेस के कुल छह सदस्य थे. अगर विधानमंडल में पार्टी के दो तिहाई सदस्य दल बदल करते हैं तो उन पर दल बदल विरोधी कानून लागू नहीं होता है.
कांग्रेस ने विधान परिषद में मुख्य विपक्षी पार्टी का दर्जा गंवा दिया क्योंकि इस दर्जे के लिए सदन की कुल क्षमता का 10वां हिस्सा होना जरूरी है. अधिसूचना में कहा गया है कि तेलंगाना विधान परिषद के अध्यक्ष ने सदन में मोहम्मद अली शब्बीर को मिला विपक्ष के नेता का दर्जा खत्म कर दिया है. यह आदेश 22 दिसंबर से प्रभावी है.
इस बीच, टीआरसी एमएलसी कोंडा मुरली ने कहा कि उन्होंने सभापति को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. मुरली की पत्नी ने हाल में संपन्न विधानसभा चुनाव लड़ा था लेकिन वह हार गई थीं. यह दंपति चुनाव से पहले टीआरएस छोड़ कांग्रेस में शामिल हो गया था.