RTI से मांगी विकास परियोजनाओं की जानकारी, जवाब में मिले इस्तेमाल किए कंडोमराजस्थान में विकास चौधरी और मनोहर लाल ने 16 अप्रैल को आरटीआई के तहत आवेदन किए थे, जिसमें 2001 में शुरू की गई विकास योजनाओं के बारे में जानकारी मांगी गई थी.
राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले की भादरा तहसील के चानी बदी में आरटीआई के तहत मिला जवाब बेहद चौकाने वाला था. चानी बदी में रहने वाले लोगों ने आरटीआई के जवाब में पुराने कंडोम को पेपर में लपेट कर भेज दिया.
राज्य सूचना आयोग के निर्देश पर ग्राम पंचायत की ओर से आरटीआई के जवाब में यह पोस्ट भेजी गई थी.
‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, राजस्थान में विकास चौधरी और मनोहर लाल ने 16 अप्रैल को आरटीआई के तहत आवेदन किए थे, जिसमें 2001 में शुरू की गई विकास योजनाओं के बारे में जानकारी मांगी गई थी.
इसके जवाब में दोनों को दो लिफाफे भेजे गए, जिसमें अखबार में लपेटे हुए पुराने कंडोम निकले. रिपोर्ट के मुताबिक, जब एक लिफाफे से कंडोम निकला, तो विकास चौधरी और मनोहर लाल ने दूसरा लिफाफा नहीं खोलने का फैसला किया. उन्होंने खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) को फोन कर सारी बात बताई. साथ ही उनसे गुजारिश किया कि जब दूसरा लिफाफा खोलें, तो वे (बीडीओ) मौजूद रहें.
उन्होंने बताया कि जब बीडीओ ने उनकी अर्जी ठुकरा दी, तो उन्होंने गांव को लोगों के सामने लिफाफे को खोलते हुए उसका वीडियो बनाने का फैसला किया. जब दूसरा लिफाफा खुला तो उसमें से भी कंडोम निकले.
इस पर मनोहर लाल ने कहा कि कोई सरकारी संस्था इस तरह के काम कैसे कर सकती है. मैं इस तरह के गैरजिम्मेदाराना जवाब से मानसिक तौर पर परेशान हूं. वहीं, जिला परिषद के अधिकारियों ने इस पर कहा कि किसी ने सरकारी सिस्टम में घुसकर ऐसी हरकत की है.