डोनाल्ड ट्रम्प का साफ संदेश: काश्मीर से कोई लेना देना नही,भारत पाकिस्तान का मामला

0
507
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को गहरा झटका दे दिया आज सुबह,कश्मीर मामले से खुद को पूरी तरह अलग करके।अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि वह अब कश्मीर पर मध्यस्थता की पेशकश नहीं करेंगे। इस बात की जानकारी भारतीय राजनयिक ने सोमवार को दी है।
अमेरिका में भारतीय राजनयिक हर्ष वर्धन श्रंग्ला ने कहा, अमेरिका की दशकों पुरानी नीति में कश्मीर पर कोई मध्यस्थता ना करना रही है। इस नीति में केवल भारत और पाकिस्तान को अपने मतभेदों को द्विपक्षीय रूप से हल करने के लिए प्रोत्साहित करना रहा है।

फॉक्स न्यूज चैनल पर श्रंग्ला ने कहा, “राष्ट्रपति ट्रंप ने ये साफ कर दिया है कि उनकी जम्मू-कश्मीर पर मध्यस्थता की पेशकश भारत और पाकिस्तान के इसे स्वीकार करने पर निर्भर करती है। भारत ने इस पेशकश को स्वीकार नहीं किया था, तो ट्रंप ने भी स्पष्ट तौर पर कह दिया कि अब इसपर बात नहीं होगी।”

बता दें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ जॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रंप ने ये बात कहकर सभी को हैरान कर दिया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने को कहा है।

हालांकि बाद में भारत ने इस बात को खारिज कर दिया और कहा कि प्रधानमंत्री की ओर से ऐसी कोई बात नहीं की गई थी। और सभी मुद्दे इस्लामाबाद के साथ बातचीत करने से ही हल हो पाएंगे। इसके करीब एक हफ्ते बाद ट्रंप ने फिर कहा कि वह यदि वह (भारत और पाकिस्तान) चाहते हैं तो वह कश्मीर पर भारत और पाकिस्तान के बीच “निश्चित रूप से हस्तक्षेप” करेंगे।

उन्होंने कहा था कि अब ये भारत और पाकिस्तान पर है कि कश्मीर मुद्दा सुलझे लेकिन यदि दो दक्षिण एशियाई पड़ोसी चाहते हैं कि इस मुद्दे को हल करने में मदद करूं तो मदद करने के लिए तैयार हूं।