【BREAKING VIDEO】 प्रियंका गांधी के सामने कांग्रेस की गुंडागर्दी मीडिया के साथ,प्रियंका की मौन सहमति

0
371

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सोनभद्र के उम्भा गांव पहुंची थीं. जहां उनसे सवाल पूछने के दौरान कांग्रेस के कार्यकर्ता  एबीपी न्यूज के सहयोगी चैनल एबीपी गंगा के रिपोर्टर से हाथापाई पर उतर आए. रिपोर्टर ने प्रियंका गांधी से धारा 370 को लेकर सवाल किया था. कांग्रेस कार्यकर्ता ने एबीपी गंगा के रिपोर्टर पर बीजेपी से पैसा लेकर आने, सवाल पूछने और परेशान करने का आरोप लगाया. इतना ही नहीं अपनी धौंस जमाते हुए कार्यकर्ता ने रिपोर्टर को धमकी भी दी.

कांग्रेस कार्यकर्ता ने रिपोर्टर से कहा, तुम्हें समझ नहीं आ रहा है. अभी ठोंक के यहीं बजा देंगे. मारेंगे तो गिर जाओगे. रिपोर्टर बार-बार बस इतनी ही बात कहता रहा कि प्रियंका जी देखिए आपके सामने धक्का मारा जा रहा है. प्रियंका के सामने ही धक्कामुक्की की गई. पर प्रियंका ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

【LIVE VIDEO OF INCIDENT】

हालांकि धारा 370 के सवाल पर उन्होंने ये जरूर कहा कि मैं यहां पीड़ितों से मिलने आई हूं.

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 निरस्त किये जाने पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा कि यह जिस ढंग से किया गया, वह पूरी तरह असंवैधानिक एवं लोकतंत्र के सिद्धांतों के विपरीत है। उम्भा गांव के दौरे पर आयी प्रियंका ने 370 पर पहली प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘इसे जिस ढंग से किया गया, वह पूरी तरह असंवैधानिक है और लोकतंत्र के सिद्धांतों के विपरीत है।’ उन्होंने कहा कि जब ऐसे फैसले किये जाते हैं तो नियम कायदों का पालन करना होता है लेकिन ऐसा नहीं किया गया।  प्रियंका ने कहा कि उनकी पार्टी संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए हमेशा संघर्ष करती आयी है।

इस मुद्दे पर पार्टी में अलग अलग राय पर प्रियंका ने कहा, ‘कांग्रेस की कोई अलग-अलग राय नहीं आयी। कांग्रेस पार्टी की सीडब्ल्यूसी जब हुई थी, उसमें स्पष्ट राय है। जो हुआ है वो संविधान को नकारा गया है और कांग्रेस पार्टी ने हमेशा संविधान के लिए, लोकतंत्र के लिए लडाई लडी है। हम उस लडाई को लड़ते रहेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘ये एक बहुत स्पष्ट राय है और यही बयान है कि जिस तरह से ये किया गया है… सिंधिया जी ने जो सीडब्ल्यूसी में हैं, उन्होंने भी बयान पर दस्तखत किया है तो सब सहमत हैं।’

पत्रकारों के सवालों के जवाब में कांग्रेस महासचिव ने कहा कि हमारे यहां सिर्फ एक ही व्यक्ति की आवाज नहीं सुनी जाती है, जैसा भाजपा में होता है। कांग्रेस में सबकी आवाज सुनी जाती है, उस पर चर्चा होती है, तब कोई राय कायम होती है।