Monday, November 23, 2020
Uncategorized

बच गया एक और 26/11 होने से, 4 आतंकवादियों की चिथड़े न उड़ते तो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह ,राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, विदेश सचिव और शीर्ष खुफिया अफसरों के साथ नगरोटा एनकाउंटर (Nagrota Encounter) पर समीक्षा बैठक की। सूत्रों के मुताबिक सरकार का ये मानना है कि आतंकवादी 26/11 की वर्षगांठ पर एक आतंकी हमले की योजना बना रहे थे। बता दें कि बीते गुरुवार तड़के हुए मुठभेड़ में 4 आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गृह मंत्री, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, विदेश सचिव और शीर्ष खुफिया अफसरों के साथ नगरोटा एनकाउंटर पर समीक्षा बैठक की। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, ये आतंकी 26/11 हमले की बरसी पर एक बड़े आतंकी हमले की तैयारी में थे।

दरअसल जम्मू के नगरोटा में बन टोल प्लाजा पर चेकिंग के दौरान सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को एन-44 पर ढेर कर दिया। आतंकी एक ट्रक में छिपकर आ रहे थे और चेकिंग के लिए रोके जाने पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई के दौरान जवानों ने ट्रक को विस्फोट से उड़ा दिया, जिसके बाद आतंकी पास में जंगल की तरफ भागने लगे। 3 घंटे तक चले ऑपरेशन में सभी आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया।

5 बजे नगरोटा के इस टोल प्लाजा पर ये ट्रक आया. चारों आतंकवादी इसी ट्रक में चावल की बोरियों के बीच छिपे हुए थे और जब सुरक्षाबलों ने इस ट्रक की तलाशी लेने की कोशिश की तो अंदर छिपे हुए आतंकवादियों ने फायरिंग शुरु कर दी. लगभग 3 घंटों तक ये एनकाउंटर चलता रहा.

नई दिल्ली: कल जम्मू के नगरोटा में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच एक एनकाउंटर हुआ. इसमें 4 आतंकवादी मारे गए हैं. इन आतंकवादियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद मिला है.

– इस ऑपरेशन में जम्मू-कश्मीर पुलिस, CRPF और भारतीय सेना के जवान शामिल हुए. एनकाउंटर में 2 पुलिसवाले घायल हुए, हालांकि अब वो खतरे से बाहर हैं.

– ये एनकाउंटर नगरोटा के एक टोल प्लाजा के पास हुआ और वहां लगे CCTV कैमरे में ये पूरा एनकाउंटर रिकॉर्ड हो गया.

3 घंटों तक चलता रहा एनकाउंटर
कल सुबह 5 बजे नगरोटा के इस टोल प्लाजा पर ये ट्रक आया. चारों आतंकवादी इसी ट्रक में चावल की बोरियों के बीच छिपे हुए थे और जब सुरक्षाबलों ने इस ट्रक की तलाशी लेने की कोशिश की तो अंदर छिपे हुए आतंकवादियों ने फायरिंग शुरु कर दी. लगभग 3 घंटों तक ये एनकाउंटर चलता रहा. इस ऑपरेशन के दौरान आतंकवादियों ने इस ट्रक को अपना कवच बनाने की कोशिश की थी. हालांकि सुरक्षाबलों की कार्रवाई में एक भी आतंकवादी को बचकर निकलने का मौका नहीं मिला.

सबसे अच्छी बात ये है कि इस एनकाउंटर में किसी भी आम आदमी को कोई नुकसान नहीं हुआ है. आशंका है कि ये सभी आतंकवादी पाकिस्तान से जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में घुसपैठ करके भारतीय सीमा में दाखिल हुए और नगरोटा के इस टोल प्लाजा से होते हुए ये कश्मीर जाना चाहते थे.

 

सुरक्षाबलों के ऑपरेशन के खिलाफ अक्सर दुष्प्रचार किया जाता
जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों पर सुरक्षाबलों के ऑपरेशन के खिलाफ अक्सर दुष्प्रचार किया जाता है. नगरोटा में भी सुरक्षाबलों ने इन आतंकवादियों को सरेंडर करने का एक मौका दिया और इन आतंकवादियों से सरेंडर करने की अपील की.

हालांकि इस अपील के बावजूद आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी और उनके पास इन सभी आतंकवादियों का एनकाउंटर करने के अलावा कोई और विकल्प नहीं था. सुरक्षाबलों की कार्रवाई के बाद इस ट्रक में कई धमाके हुए और आग लग गई. एनकाउंटर खत्म होने के बाद इन आतंकवादियों के पास से AK सीरीज की 11 राइफल और चीन में बने 30 हैंड ग्रेनेड भी मिले हैं. इन आतंकवादियों के पास पेन किलर इंजेक्शन और कई दवाइयां भी मिली हैं.

 

Leave a Reply