Monday, August 8, 2022
Uncategorized

बच गयी इज्ज़त प्रदेश भाजपा और दो केंद्रीय मंत्रियों की,ऐतिहासिक कांड कर देता पूर्व भाजपाई, हमने बताया था 4 क्रास वोट होंगे

कांग्रेसी के लिए भी लक्ष्मी गुर्जर की सभापति के लिए उम्मीदवारी अप्रत्याशित थी। लक्ष्मी का नाम सुनकर कांग्रेस पार्षद भी स्तब्ध थे, लेकिन लक्ष्मी की उम्मीदवारी के पीछे कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार का गुप्त एजेंडा था। कांग्रेस ने गुर्जर की उम्मीदवारी भाजपा के सजातीय पार्षदों की क्रास वोटिंग के लिए की गई थी। हालांकि कांग्रेस पार्षदों के क्रास वोटिंग से पूरा गणित बिगड़ गया और सभापति का चुनाव महज एक वोट से कांग्रेस हार गई। ़निगर निगम परिषद में सभापति पद पर कांग्रेस का उम्मीदवार जीतने के लिए कांग्रेस के गिनती के नेताओं व सतीश सिकरवार ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया था। सभापति के लिए रणनीति भी सटीक

हमने पूर्व में ही बताया था कि कटनी वाली हरकत ग्वालियर में करके भाजपा ने आफत मोल ली है साथ ही प्रदेश कार्यालय में बैठे मुंह चलाने और ज्ञान पेलने वाले नेता सत्य के धरातल पर वार्ड स्तर की औकात नही रखते बस मोदी के नाम की खाये जा रहे हैं।तय हो गए थे 4 क्रास वोट गिनती वाले दिन जब कमलनाथ ने फ्री हैंड दिया सिकरवार को और प्रदेश में खुद की सरकार होने पर भी पार्षद लेकर भागना पड़ा प्रदेश भाजपा को।

इधर भाजपा में भी जारी है विश्वासघातियों की तलाश

भिाजपा को भी आशंका है कि उनके चार पार्षदों ने क्रास वोटिंग की है। महानगर इकाई इस बात का पता लगा रही है कि पार्टी की लाइन से हटकर किन लोगों ने क्रास वोटिंग की है। क्रांस वोटिंग करने वालों के नाम तो सामने आ गए हैं, अब उनके खिलाफ साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं।

कांग्रेस में सतीश के बढ़ते कद से बड़े नेता भी परेशान थे

कुछ समय पहले तक अंचल में कांग्रेस महल से संचालित होती थी। भाजपा से कांग्रेस में आए सतीश सिकरवार के महापौर के चुनाव में भाजपा को मात देने से कांग्रेस हाईकमान के सामने कद उनका बढ़ गया है। इसी के चलते कांग्रेस के प्रदेश नेतृत्व में सभापति चुनाव के लिए भी सिकरवार को फ्री हेंड दिया था। पार्टी सूत्रों की मानें तो यह बात अंचल के स्थापित कांग्रेसियों को रास नहीं आ रही थी। यही कारण है कुछ कांग्रेस सभापति के चुनाव के लिए सिकरवार के साथ घूम रहे थे, लेकिन कोशिश थी कि चुनाव में सिकरवार को मात मिले। इसी रणनीति के तहत दो बड़े कांग्रेसियों ने सिकरवार को शिकस्त देने के लिए हाथ मिला लिया था।

Leave a Reply