मोहम्मद मुसदुल रहमान ने 5 साथी जवानों को मारी,बाद में रहमान भी मारा गया,जिहादी एंगल पर भी जांच

0
2817
छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के कैंप में सनसनीखेज घटना हो गई
  • यहां एक कॉन्स्टेबल ने अपने 5 साथियों को गोली मार दी, बाद में हमलावर जवान की भी मौत
  • यह स्पष्ट नहीं हुआ कि हमलावर जवान ने आत्महत्या की या जवाबी कार्रवाई में उसकी मौत हुई
नारायणपुर
छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कैंप में सनसनीखेज घटना हो गई। यहां एक कॉन्स्टेबल ने अपने 5 साथियों को गोली मार दी और बाद में हमलावर जवान की भी मौत हो गई। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि हमलावर जवान ने आत्महत्या की या जवाबी कार्रवाई में उसकी मौत हुई। अचानक घटी वारदात में 3 लोग घायल हो गए हैं। सूत्रों की मानें तो छुट्टियों को लेकर विवाद के बाद यह होश उड़ा देने वाली घटना घटी।
बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि नारायणपुर जिले के कडेनार गांव में स्थित आइटीबीपी के 45वीं बटालियन के शिविर में जवानों के बीच गोलीबारी हुई। जवानों के शव और घायल जवानों को अस्पताल भेजा गया है।
अचानक जवानों पर शुरू की फायरिंग
कडेनार स्थित आईटीबीपी का यह कैंप नारायणपुर से करीब 350 किलोमीटर दूर है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक, आईटीबीपी जवान मसुदुल रहमान ने सर्विस रिवॉल्वर से अचानक साथी जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। अचानक हुई इस गोलीबारी में जवानों को संभलने का मौका भी नहीं मिला। इस घटना ने हर किसी को सन्न कर दिया।

सुंदरराज ने बताया कि इस घटना में रहमान की भी मौत हो गई। मृतकों में हिमाचल प्रदेश के प्रधान आरक्षक महेंद्र सिंह, पंजाब के प्रधान आरक्षक दलजीत सिंह, पश्चिम बंगाल के आरक्षक सुरजीत सरकार व आरक्षक बिश्वरूप महतो और केरल के आरक्षक बीजीश शामिल हैं। केरल निवासी एस बी उल्लास और राजस्थान निवासी सीताराम दून घायल हुए हैं।

राइफल की होगी जांच
पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि रहमान ने खुद को गोली मारी या उसके साथियों ने जवाबी कार्रवाई में उसे मार गिराया। इस घटना में मारे गए जवानों की राइफल की जांच के बाद ही जानकारी मिल सकेगी कि जवानों ने रहमान पर गोली चलाई है या नहीं। सुंदरराज ने बताया कि घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलिकॉप्टर से रायपुर भेजा गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रहमान खान ने पहले अपने पांच साथियों को गोली मारी। इसके बाद उसकी भी जान चली गई। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक छुट्टियों को लेकर विवाद हो गया था, जिसके बाद खान ने यह कदम उठाया। नारायणपुर के सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस मोहित गर्ग घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं और इस मामले की जांच की जा रही है।