नेशनल कॉन्फ्रेंस को लग रहा है कि आगामी विधानसभा चुनाव में वह अकेले दम पर जीत सकती है, इसलिए उसने कांग्रेस से दूरी बनानी शुरू कर दी है. दूसरी ओर कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में हार का ठीकरा नेशनल कॉन्फ्रेंस के माथे पर फोड़ा है. जम्मू कश्मीर में कांग्रेस के प्रवक्ता रविंदर शर्मा ने इंडिया टुडे से बातचीत में हार के कारण गिनाए. उन्होंने कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेताओं ने जम्मू क्षेत्र में प्रचार नहीं किया जिस कारण गठबंधन की सीटें घट गईं. नेशनल कॉन्फ्रेंस घाटी की सभी तीनों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करने में कामयाब हुई जबकि कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली है. वहीं भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में जम्मू की दो और लद्दाख की एक सीट अपने नाम की.
कांग्रेस को इसका जवाब देते हुए नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता अनिल धर ने कहा कि कांग्रेस पहले अपनी हार की समीक्षा करे और सोचे कि कहां चूक रह गई. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को मंथन करने के बाद सुधार की कार्रवाई पर ध्यान लगाना चाहिए. धर ने इंडिया टुडे बातचीत में कहा कि जम्मू कश्मीर में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने कितनी रैलियां की? कांग्रेस के आरोपों को नकारते हुए धर ने कहा कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के कई नेताओं ने जम्मू में प्रचार किया. उन्होंने कहा कि हार के लिए कांग्रेस खुद को जिम्मेदार ठहराए, न कि दूसरे को. धर ने स्पष्ट कर दिया कि आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं होगा और उनकी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी.