BREAKING NEWS भड़काऊ मौलानाओं पर कार्यवाही: मोहम्मद राहत कादरी गिरफ्तार, मौलाना मोहम्मद तौकीर रजा फरार

220
नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill, CAB) को लेकर चल उत्तर प्रदेश के बरेली में मौलाना (Bareilly Maulana) ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट कर दी, जिसके बाद पुलिस ने बिना कोई देरी किए गुरूवार रात केस दर्ज कर आनन-फानन में उसे गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद शुक्रवार को पूरे दिन थाने में गहमागहमी बनी रही. पुलिस भी हर स्थिति से निपटने को तैयार थी. इसके चलते ही थाने में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था. मौलाना का नाम राहत खान कादरी बताया जा रहा है.
थाना इज्जतनगर क्षेत्र की मदीना मस्जिद महलऊ के इमाम मौलाना राहत खान कादरी ने गुरुवार रात को सोशल साइट्स पर एक पत्र जारी करते हुए नागरिकता संशोधन बिल पर टिप्पणी की. पत्र में उन्होंने शुक्रवार को प्रदर्शन में लोगों से शामिल होने की अपील भी की. इस पोस्ट से माहौल खराब होने की आशंका व्यक्त करते हुए पुलिस ने आनन-फानन कार्रवाई शुरू कर दी. गुरुवार रात में मुकदमा दर्ज कर लिया और मौलाना को गिरफ्तार किया. मौलाना को दिन भर थाने से अलग किसी और स्थान पर रखा गया.
बता दें कि नागरिकता संशोधन बिल 2019 बुधवार को राज्यसभा में पारित हो गया. यह विधेयक लोकसभा में पहले ही पारित हो चुका था. गुरुवार देर रात राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की ओर से इसे मंजूरी मिलने के बाद यह विधेयक कानून में बदल गया. राज्यसभा में विधेयक के पक्ष में 125 वोट और विरोध में 99 वोट पड़े थे. वहीं, लोकसभा में इस बिल के पक्ष में 311 और विरोध में 80 वोट पड़े. नागरिकता संशोधन कानून के तहत भारत के तीन पड़ोसी इस्लामी देशों- पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक प्रताड़ना का शिकार होकर भारत की शरण में आए गैर-मुस्लिम लोगों को आसानी से नागरिकता मिल सकेगी।
उत्तर प्रदेश के बरेली से इत्तहादे मिल्लत कौंसिल (आईएमसी) के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खान (Maulana Tauqeer Raza Khan) का एक बेहद भड़काऊ वीडियो सामने आया है. जिसमें खुलेआम धमकी देते नजर आ रहे हैं. मौलाना ने कहा कि केंद्र सरकार ने अगर नागरिकता संशोधन कानून वापस नहीं लिया तो हिंदुस्तान की गलियों में खून बहेगा. वीडियों वायरल होने के बाद पुलिस ने मौलाना तौकीर रजा समेत 53 के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.
अमर उजाला की खबर के मुताबिक कोतवाली क्षेत्र के नौमहला मस्जिद गेट के सामने शुक्रवार को इत्तेहाद ए मिल्लत काउंसिल (आइएमसी) के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोग एकत्र हुए थे. धारा 144 लागू होने के बाद भी भीड़ इकट्ठी हुई और वहां मौलाना तौकीर रजा नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में मोदी पर जमकर निशाना साधा और कई बेहद आपत्तिजनक टिप्पणियां की. उन्होने कहा कि अगर यह कानून वापस नहीं होगा तो हिन्दुस्तान की गलियों में खून बहेगा. धमकी भरा वीडियो वायरल होने के बाद उच्चाधिकारियों ने इसका संज्ञान लिया. इसके बाद कोतवाली की अयूब खां चौकी इंचार्ज सुरजीत सिंह पुंडीर की ओर से धमकी देने व धारा 144 का उल्लघंन करने के मामले में मुकदमा दर्ज कर किया गया है. जिसमें मौलाना तौकीर रजा समेत तीन को नामजद किया गया, जबकि 50 अज्ञात हैं .
इस संबंध में कोतवाली इंस्पेक्टर गीतेश कपिल ने बताया कि वीडियो वायरल होने के बाद मामले की जानकारी हुई. मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है. बता दें कि शुक्रवार को असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम की तरफ से भी नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया था. पुलिस ने इस संगठन के लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन का मामला शुक्रवार को देर शाम ही दर्ज कर लिया था.