सोशल मीडिया मुखिया से इस्तीफा नही दिव्या स्पंदन का पर राहुल गांधी का काम छिना, ईसाई नेता मार्ग्रेट अल्वा के बेटे को

0
1135
कांग्रेस सोशल मीडिया सेल की प्रमुख दिव्या स्पंदना उर्फ राम्या ने इस्तीफे की खबर को ‘बेवकूफाना’ बताया है। बुधवार दोपहर अचानक दिव्या के इस्तीफे की अफवाह उड़ी और राजनीति के गलियारे  से लेकर मीडिया तक में उन्हें लेकर तमाम बातें सामने आने लगीं।
दिव्या के इस्तीफे की बात तब उड़ी जब उनके  ट्विटर प्रोफाइल में लोगों ने बदलाव देखा। लोगों ने देखा कि दिव्या के प्रोफाइल में पार्टी के सोशल मीडिया इंचार्ज होने का जिक्र नहीं है। फिर क्या था अफवाह ने उड़ान भरी और खबरें आईं कि दिव्या ने इस्तीफा दे दिया है। हालांकि खुद दिव्या ने अपने इस्तीफे की बात का खंडन कर दिया और पूरे मामले को हास्यास्पद बताया।

प्रोफाइल में किए गए बदलाव के बाद दिव्या सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं। अब ट्विटर पर उनकी प्रोफाइल में उनकी जिम्मेदारी की जानकारी दिखने लगी है।

दिव्या के लिए उड़ी अफवाह को तब और बल मिला जब ट्विटर पर  सक्रिय रहने वाली दिव्या अचानक 29 सितंबर के बाद वहां से गायब हो गईं और पिछले पांच-सात दिनों में उनका कोई ट्वीट नहीं आया।

हालांकि अफवाह उड़ने के बाद दिव्या ने बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक ट्वीट को रीट्वीट किया। बाद में कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी दिव्या के इस्तीफे की खबर को खारिज किया।

जैसे-जैसे सोशल मीडिया पर कांग्रेस की उपस्थिति को बढ़ाने में दिव्या विपक्षी पार्टियों और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ट्वीट कर रहीं थीं वह उनके लिए विवादों को जन्म दे रहा था।

यहां तक की उनपर अपनी टीम के सदस्यों का शारीरिक उत्पीड़न का भी आरोप लगा। फिलहाल दिव्या के खिलाफ लखनऊ में एक केस दर्ज हुआ है। केस की वजह उनका पीएम मोदी को सोशल मीडिया पर चोर कहा जाना है।

कांग्रेस के कुछ नेताओं ने बताया कि पार्टी के एक तबके में दिव्या के काम को लेकर विरोध तेजी से बढ़ रहा है। उनके मुताबिक दिव्या मीडिया का काम देखने वाले किसी विभाग को रिपोर्ट भी नहीं करती हैं।

कुछ नेताओं ने इस ओर भी इशारा किया कि राहुल गांधी के ट्विटर हैंडल को कांग्रेस की वरिष्ठ नेता माग्रेट अल्वा के बेटे निखिल अल्वा के हवाले कर दिया गया है। उन्होंने कहा दिव्या इसे लेकर भी नाराज हैं।