4था प्रकरण सामने आया,वहशी हॉस्टल संचालक फ़िल्म भी बनाता था दरिंदगी की

0
774

एक पीड़ित छात्रा ने छात्रावास संचालक अश्विनी शर्मा पर जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म व अप्राकृतिक कृत्य करने के साथ बनाने की शिकायत की है।

इंदौर/भोपाल । मध्य प्रदेश के भोपाल में छात्रावास में मूक-बधिर लड़कियों के शोषण की एक और घटना उजागर हुई है। शनिवार रात 23 साल की एक पीड़ित छात्रा ने छात्रावास संचालक अश्विनी शर्मा पर जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म व अप्राकृतिक कृत्य करने के साथ बनाने की शिकायत की है। छह महीने तक छात्रावास में उसके साथ दरिंदगी होती रही।

इंदौर के हीरानगर थाने की पुलिस के मुताबिक, पिपलिया पघारा (धार) निवासी युवती शनिवार शाम थाने पहुंची। उसने पुलिस को बताया कि घटना अक्टूबर 2017 से मार्च 2018 के बीच की है। वह आईटीआई कम्प्यूटर कोर्स करने भोपाल गई थी। छात्रावास में अश्विनी ने तीन छात्राओं को अश्लील वीडियो दिखाए। कुछ दिनों बाद अश्विनी ने पीड़िता को भी अश्लील फोटो दिखाने की कोशिश की। विरोध करने पर उसने अप्राकृतिक कृत्य व दुष्कर्म किया और वीडियो भी बनाया था। धमकी मिलने पर पीड़िता ने घटना के बारे में किसी को नहीं बताया और घर आ गई। दो दिन पहले पता चला कि आरोपित के खिलाफ केस दर्ज हुआ है तो वह थाने पहुंची। टीआई राजीव भदौरिया के मुताबिक आरोपित के खिलाफ शून्य पर केस दर्ज कर जांच भोपाल भेजी गई है।

भोपाल में एसपी (साउथ) राहुल कुमार लोढ़ा ने बताया कि छात्रावास में तीन साल के दौरान रही सभी 21 छात्राओं से पुलिस पूछताछ करेगी। साथ ही उन मालिकों को नोटिस दिए जाएंगे, जिनके मकान छात्रावास के लिए अश्विनी ने किराए पर लिए थे। मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी की शनिवार को पहली बैठक हुई। इसमें तय किया गया कि इस केस में शीघ्र ही पुख्ता साक्ष्यों के साथ चालान प्रस्तुत किया जाए।