102 मरे जहरीली शराब से,200 गम्भीर

0
215
असम: जहरीली शराब पीने से अब तक 102 की मौत, 200 की हालत गंभीरपुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों की पहचान इंदुकलपा बोरदोलोई और देब बोरा के रूप में हुई है, जो चाय बागान के पास ही देसी शराब की भट्टी चलाते थे.
असम के गोलाघाट जिले में जहरीली शराब पीने से चाय बागान के 102 मजदूरों की मौत हो गई. जिले के एक अधिकारी ने बताया कि कई लोगों का अभी विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है. ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है.
असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा ने भी न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को दिए गए बयान में कहा है कि हर दस मिनट पर एक कैजुअल्टी की रिपोर्ट आ रही है. लगभग 200 लोगों का इलाज चल रहा है जिनमें से बहुतों की हालत नाजुक है.
स्थानीय लोगों के मुताबिक, सालमारा चाय बागान के मजूदरों ने गुरुवार शाम वेतन मिलने के बाद एक दुकान से शराब खरीदी थी, जिसे पीते ही चार महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई. अगले 12 घंटे में आठ अन्य लोगों की मौत की खबर आई, जो अब बढ़कर 102 पर पहुंच गई है. मिली जानकारी के मुताबिक 200 से अधिक लोगों का इलाज चल रहा है.
पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों की पहचान इंदुकलपा बोरदोलोई और देब बोरा के रूप में हुई है, जो चाय बागान के पास ही देसी शराब की भट्टी चलाते थे. वहीं पुलिस इस मामले में शामिल अन्य लोगों की तलाश में जुटी है. डीएसपी पार्थ प्रतीम सैकिया ने बताया, ‘हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है.’
स्थानीय लोगों के मुताबिक, इलाके में 10 से 20 रुपये में  कच्ची शराब मिला करती है. उन्होंने बताया कि शराब की दुकान चलाने वाले संजू ओरांग और उसकी मां द्रौपदी उरांग की भी जहरीली शराब पीने से मौत हो गई.
उधर असम के आबकारी मंत्री परीमल शुक्ल वैद्य ने विभाग के अधिकारियों की एक टीम को घटना की जांच करने का निर्देश दिया है. घटना को लेकर जिले के दो आबकारी अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है.
मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इन मौतों पर चिंता व्यक्त करते हुए अपर असम मंडल आयुक्त जूली सोनोवाल को मामले की जांच करने के निर्देश दिए और एक महीने के भीतर सरकार को इसकी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है. सोनोवाल ने राज्य के ऊर्जा मंत्री तपन कुमार गोगोई, सांसद कामाख्या प्रसाद तासा और विधायक मृणाल सैकिया को घटनास्थल का दौरा करने को कहा है.
वहीं, कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने आबकारी मंत्री के इस्तीफे की मांग की है और मुख्यमंत्री से मृतकों के परिजनों को उचित मुआवजा देने का अनुरोध किया है.