मिलिए पुलिस वालों से,ये रेप और गैंगरेप में फँसाते थे

0
7584
 रेप केस में फंसाते थे पुलिसवाले,गैंग में थी पूरी चौकी
कार चालकों से लिफ्ट लेकर उनसे मोटी उगाही करने के आरोप में नोएडा पुलिस ने एक सब इंस्पेक्टर और तीन कांस्टेबल समेत 15 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये गिरफ्तारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) के आदेश पर हुई. गिरफ्तार लोगों में ब्लैकमेल करने वाली दो महिलाएं भी शामिल हैं.
एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि सोमवार रात फरीदाबाद निवासी विनय प्रताप सिंह ने पुलिस को जानकारी दी कि वो अपनी कार से महामाया फ्लाईओवर के पास से गुजर रहे थे तभी एक युवती ने उन्हें रुकने का इशारा किया. युवती ने विनय से कहा कि कुछ बदमाशों ने उसका पर्स और सामान लूट लिया है और वह उसे पुलिस चौकी तक छोड़ दें.
एसएसपी ने बताया-
विनय ने महिला को कार में लिफ्ट दी और पुलिस चौकी गए. पुलिस चौकी के पास पहुंचते ही महिला ने शोर मचाना शुरू कर दिया कि कार चालक ने उसके साथ बलात्कार किया है. शोर सुन कर वहां पहुंचे पुलिस वाले विनय को कार समेत सेक्टर-44 पुलिस चौकी पर ले गए.
fbtw
उन्होंने बताया कि वहां पर कुछ दूसरे लोग भी पहुंचे और कार चालक के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा दर्ज करने के लिए पुलिस पर दबाव बनाने लगे. पुलिसवालों ने विनय से कहा कि मुकदमा दर्ज किया जाएगा. बुरी तरह घबराए विनय से पुलिसकर्मियों और मोहपाश में फंसाने वाली महिला ने 50 हजार रुपये में सौदा तय किया.
गैंग में शामिल थी पूरी चौकी!
कार चालक ने किसी तरह पुलिस के आला अधिकारियों को इस पूरी वारदात की जानकारी दी. मौके पर स्टेशन इंचार्ज सेक्टर-39 राजेश शर्मा को भेजा गया. वहां कार चालक से चौकी प्रभारी और दूसरे पुलिसकर्मी 50 हजार रुपये वसूल रहे थे.
एसएसपी ने बताया कि सेक्टर-44 चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर सुनील शर्मा, कांस्टेबल मनोज, कांस्टेबल अजयवीर, कांस्टेबल देवेंद्र, पीसीआर ड्राइवर विपिन सिंह, पीसीआर ड्राइवर दुर्गेश कुमार, पीसीआर ड्राइवर राजेश कुमार, अनूप, सलीम, सतीश, सुरेश कुमार, हरि ओम, देशराज और विनीता और कार चालक को ब्लैकमेल करने वाली युवती पूजा को गिरफ्तार कर लिया गया. इनके पास से कार चालक से वसूले गए 50 हजार रुपये, मोबाइल फोन आदि बरामद हुआ है.
ऐसी कई वारदातों को अंजाम दे चुका है गैंग
इस मामले में रंगदारी वसूलने और भ्रष्टाचार के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है. पूछताछ के दौरान पता चला कि गिरफ्तार महिला और अन्य लोगों ने पुलिस वालों के साथ मिलकर अब तक कई लोगों को बलात्कार के मामले में फंसाने की धमकी देकर भारी रकम वसूली है.
फिलहाल मामले की जांच की जा रही है. गिरफ्तार चौकी प्रभारी और पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से संस्पेंड कर दिया गया है. पुलिसकर्मियों की विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.