आरएसएस से जुड़े शिक्षक, 8 वर्षीय बेटे,और गर्भवती पत्नी की चाकुओं से गोदकर हत्या,सरकार पर भरोसा नही,सीबीआई जांच हो

0
320

सूत्रों के अनुसार मूल रूप से जिले के सागरदीघी निवासी बंधु प्रकाश पाल 17 नंबर साहापुर प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे। बताया गया कि शिक्षक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य भी थे। करीब पांच वर्षों से शिक्षक अपनी पत्‍‌नी ब्यूटी मंडल और आठ वर्षीय बेटे बंधु अंगन पाल के साथ जियागंज के लेबूतला में रह रहे थे। बीते मंगलवार यानी विजय दशमी की सुबह करीब दस बजे प्रकाश बाजार से लौटे थे। इसके बाद दोपहर करीब साढ़े ग्यारह बजे उनके घर से चीखने चिल्लाने की आवाज सुनाई दी। इस पर आसपास के लोग शिक्षक के घर जा पहुंचे। आरोप है कि उस वक्त एक युवक को घर के अंदर से निकलकर भागते हुए देखा गया था। घर के अंदर का नजारा देख लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई।

बिस्तर पर शिक्षक तथा जमीन पर बेटा जबकि बराबर के कमरे में पत्‍‌नी की खून में सनी लाश पड़ी थी। धारदार हथियार से प्रहार कर तीनों को मौत के घाट उतारा गया था। मृतक महिला आठ माह की गर्भवती भी बताई गई है। सूचना पर पहुंची जियागंज थाना पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घर से हत्या में प्रयोग किए गए धारदार हथियार को भी बरामद किया गया है। फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने घटनास्थल से नमूने एकत्र किए। स्निफर डॉग के साथ इलाके की जांच पड़ताल की गई। पुलिस की प्राथमिक जांच में ट्रिपल मर्डर के पीछे संपत्ति विवाद का माना जा रहा है। हालांकि हत्याकांड की ठोस वजह को लेकर पुलिस संशय में है।

घटना के बाद शिक्षक के घर से निकलने वाले युवक की तलाश की जा रही है। मृतक परिवार के अन्य सदस्यों एवं आसपास के लोगों से पूछताछ की जा रही है। घटना के दूसरे दिन भी पुलिस हत्यारों तक नहीं पहुंच सकी है। उधर, स्थानीय लोगों ने हत्याकांड की जांच सीबीआइ से कराए जाने की मांग की है।

हत्या की वजह अब तक सामने नहीं आई। घटना के बाद से इलाके में तनाव व्याप्त है। पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की है। उसे घटना के बाद घर से कथित तौर पर निकलकर भागे एक युवक की भी तलाश है।

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में घर में घुसकर अपराधियों ने एक शिक्षक की हत्या कर दी। हत्यारों ने शिक्षक की गर्भवती पत्नी और आठ साल के बेटे को भी नहीं छोड़ा। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किए गए धारदार हथियार को मौके से बरामद किया है।
दिल दहलाने वाली यह घटना विजयादशमी के दिन हुई। मीडिया  के अनुसार हत्या की वजह अब तक सामने नहीं आई है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। संदेह के आधार पर पुलिस ने आसपास के लोगों से पूछताछ भी की है। स्थानीय लोगों ने इस मामले की सीबीआई जाँच की माँग की है।

Rakesh Krishnan Simha@ByRakeshSimha

This beautiful family of a primary school teacher was brutally murdered yesterday along with an unborn baby by a jehadi mob in Murshidabad, Bengal. The deceased:
1. Prakash Pal
2. His pregnant wife
3. His 6 year old son

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
2,367 people are talking about this
सूत्रों के अनुसार मृतक बन्धु प्रकाश पाल मुर्शीदाबाद में सागरदीघी इलाके के रहने वाले थे जो कि 17 नम्बर सहपुर प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक थे। वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से भी जुड़े थे। एक पड़ोसी ने बताया कि विजयादशमी वाले दिन प्रकाश सुबह करीब 10 बजे बाज़ार से लौटे थे। तकरीबन 11 उनके घर से चीखने चिल्लाने की आवाज़ सुनाई पड़ी। इसके बाद एक युवक को उनके घर से बाहर निकलकर भागते देखा गया था।
पड़ोस के लोग जब घर के अन्दर पहुँचे तो वहां का नज़ारा देखकर उनके होश फाख्ता हो गए। पुलिस इस मामले को संपत्ति विवाद से भी जोड़ कर देख रही है। बन्धु प्रकाश के फेसबुक प्रोफाइल पर दुर्गा पूजा पंडाल के वीडियो और परिवार के साथ ली गई तस्वीरों की भरमार है।
सोशल मीडिया में कुछ लोग इसे समुदाय विशेष की करतूत बता रहे हैं। पुलिस जांच जारी है।हालॉंकि मुर्शिदाबाद समुदाय विशेष के अपराध के लिए कुख्यात रहा है। साथ ही बंगाल में भाजपा और संघ से जुड़े लोगों को निशाना बनाने वाली राजनीतिक हिंसा की घटनाओं में भी हाल में काफी तेजी देखने को मिली है।