एक गैंगरेप जिसपर चर्चा नही प्रदर्शन नही,शेख बाबू, शेख सहाबुद्दीन और शेख मकदूम आरोपी

0
699
तेलंगाना के आदिलाबाद जिले से सामने आया है। यह घटना रामन्यकतंडा और एलापट्टर गाँव के बीच हुई। 25 नवंबर को इसी क्षेत्र में पुलिस को एक महिला की लाश मिली। उसके साथ गैंगरेप हुआ था। सामूहिक बलात्कार के बाद दरिंदों ने उसे मार डाला।
शेख बाबू, शेख सहाबुद्दीन और शेख मकदूम को पुलिस ने गिरफ़्तार किया। तीनों ने पुलिस के समक्ष अपना गुनाह कबूल कर लिया है। आरोपितों ने बताया कि उन्होंने पीड़िता के साथ सामूहिक बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या कर दी। तीनों आरोपितों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। उन पर बलात्कार, हत्या और एससी-एससी एक्ट के तहत मामला चलाया जाएगा। आरोपितों ने पीड़िता का बलात्कार तब किया, जब वह गाँव के एक सुनसान इलाक़े से अकेली गुजर रही थी।
पुलिस ने घटनास्थल से सबूतों को हैदराबाद फॉरेंसिक लैब में जाँच के लिए भेजा है। असिफाबाद के डिप्टी एसपी इस केस की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। जैनूर और लिंगापुर इलाक़े में दलित और आदवासी समूहों ने इस गैंगरेप व हत्याकांड के ख़िलाफ़ प्रदर्शन किया। परिजनों ने आरोप लगाया है कि किसी भी नेता ने अब तक उनकी सुध नहीं ली है।
30 वर्षीय पीड़िता निर्मल के खानपुर की रहने वाली थी और काफ़ी गरीब थी। वह गुब्बारे बेच कर अपना गुजारा किया करती थी। वह आसपास के कई गाँवों में गुब्बारे बेच कर अपना गुजर-बसर करती थी। उसके पति भी बैलून बेचने का ही काम किया करते थे। घटना के दिन उसके पति ने उसे गाँव तक छोड़ा था और दोनों अलग-अलग गाँवों में गुब्बारे बेचने चले गए थे।
पुलिस के अनुसार, रविवार (नवंबर 24, 2019) को जब उसका पति वापस आया तो उसने पाया कि महिला गायब है। उसके पति ने आसपास के गाँवों में भी खोज-खबर ली, लेकिन कहीं भी उसका पता नहीं चला। रिश्तेदारों को भी उसके बारे में कुछ नहीं पता था। हार कर उसने लिंगापुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। बाद में पुलिस को एलापट्टर गाँव में उक्त महिला की लाश मिली। इसके बाद आदिलाबाद एक्स रोड से पुलिस ने तीन को धर-दबोचा।