Wednesday, July 21, 2021
Uncategorized

1 करोड़ रुपये की सोने की तलवार प्रभु को भेंट की मंदिर में,

Tirupati: Tirumala मंदिर में श्रद्धालु ने चढ़ाई सोने से बनी 1 करोड़ रुपये की तलवार, देखें ‘Suryakathari’ की तस्वीरें

हैदराबाद: समुद्र तल से 3200 फीट ऊंचाई पर तिरुमला (Tirumala) की पहाड़ियों पर बना श्री वेंकटेश्‍वर मंदिर यहां का सबसे बड़ा आकर्षण है. …

श्रद्धालु ने भेंट की 5 किलो वजनी तलवार
श्रद्धालु ने भेंट की 5 किलो वजनी तलवार

जानकारी के मुताबिक हैदराबाद के एक श्रद्धालु ने तिरुमला मंदिर में भगवान वेंकटेश्वर को सुनहरी तलवार सूर्यकथारी (Suryakathari) भेंट की है. इस दिव्य तलवार का वजन करीब 5 किलो है. इस तलवार (Golden Sword) का डिजाइन देखने में बेहद मनमोहक है. सुनहरा रंग होने की वजह यह दूर से ही चमक बिखेरती नजर आती है.

तिरुमला मंदिर के प्रबंधन ने प्राप्त किया उपहार
तिरुमला मंदिर के प्रबंधन ने प्राप्त किया उपहार

हैदराबाद के एक कारोबारी श्रद्धालु एमएस प्रसाद (MS Prasad) सोमवार को मंदिर पहुंचे और उन्होंने भगवान को सूर्यकथारी (Suryakathari) अर्पित की. मंदिर प्रबंधन की ओर से तिरुमला-तिरुपति देवस्थानम बोर्ड के अतिरिक्त कार्यकारी अधिकारी ए वेंकट धर्म रेड्डी ने यह तलवार प्राप्त की.

2 किलो सोने और 3 किलो चांदी से हुआ निर्माण
2 किलो सोने और 3 किलो चांदी से हुआ निर्माण

श्रीवारी मंदिर के रंगनायकुला मंडपम में भगवान वेंकटेश्वर को यह भेंट दी गई. यह तलवार 2 किलोग्राम सोने और तीन किलो चांदी से बनी है. इस तलवार की कीमत करीब एक करोड़ रुपये बताई जा रही है. इस साल मंदिर को प्राप्त होने वाला अब तक का यह सबसे बड़ा दान है.

भगवान विष्णु का हथियार है सूर्यकथारी
भगवान विष्णु का हथियार है सूर्यकथारी

सूर्यकथारी शब्द वैदिक संस्कृति के ‘सूर्य कटारी’ से बना है. यह हथियार तिरुमला पहाड़ियों में विराजमान भगवान वेंकटेश्वर का प्रमुख हथियार माना जाता है और अक्सर उनके हाथों में दिखता है. भगवान विष्णु की इस तलवार को ‘नंदक’ के नाम से भी जाना जाता है. माना जाता है कि यह तलवार स्वयं सूर्य देव ने उपहार में दी थी.

6 महीने में बनकर तैयार हुई तलवार
6 महीने में बनकर तैयार हुई तलवार

जानकारी के मुताबिक भगवान वेंकटेश्वर को चढ़ावे में सोने-चांदी की तलवार सौंपने वाले श्रीनिवास उनके परम भक्त हैं. बताया जा रहा है कि उन्होंने सोने के तलवार देने की योजना पिछले साल ही बनाई थी. लेकिन कोरोना वायरस की वजह से इसमें एक साल की देरी हो गई. इस तलवार को तमिलनाडु के कोयम्बटूर में बनाया गया है. इसे बनाने में स्पेशलिस्ट ज्वेलर्स को भी करीब 6 महीने लग गए हैं.

मंदिर में हर साल पहुंचते हैं लाखों श्रद्धालु
मंदिर में हर साल पहुंचते हैं लाखों श्रद्धालु

तिरुपति वेंकटेश्वर मन्दिर तिरुपति में भगवान विष्णु का मंदिर है. यह दक्षिण भारत में सबसे प्रसिद्ध तीर्थस्थलों में से एक है. आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में बने इस मंदिर में हर साल लाखों दर्शनार्थी पहुंचते हैं. यह मंदिर अपना स्थापत्यकला के साथ ही यहां मिलने वाले दान की वजह से भी चर्चा में रहता है.

Leave a Reply