कमलनाथ सिंधिया दिग्विजय के 60 लाख फर्जी मतदाता का मामला निकला फर्जी

0
549
60 लाख फर्जी मतदाता की बात करने वाली कांग्रेस सबूतों के नाम पर  “तू चल मैं आयी कि स्थिति में पहुंच गई”
न खाता न बही, जो हम कहें वही सही…
सिवनी मालवा क्षेत्र के 17 मतदान केंद्र की 82 सूचियों में किसी भी मतदाता का नाम रिपीट नही,
2442 नाम मिलते जुलते मिले, उसमे 2397 सही और जगह पर,
45 लोग शिफ्ट हो गए हैं,
नरेला विधानसभा क्षेत्र
154 मामलों में से 153 सही और सटीक मिले
होशंगाबाद सीट
552 मामलों की जांच
1 भी नाम रिपीट नही,
भोजपुर
36 में से 29 जगह पर
7 को स्थानांतरण के कारण दुरुस्त करने के आदेश,
एक ही फोटो होना,तकनीकी खराबी के कारण पाया गया लेकिन उसका लाभ लेने की स्थिति में कोई नही मिला,
इससे पहले…
..
कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में 60 लाख से अधिक फर्जी मतदाता होने का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से रविवार को शिकायत की। जिसके फौरन बाद निर्वाचन आयोग ने जांच के लिए दो टीमें गठित करते हुए मतदाता सूचियों की जांच के आदेश दिए। निर्वाचन आयोग की टीमें खामियों को देखने के लिए नरेला, भोजपुर , सिवनी, मालवा और होशंगाबाद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा करेंगी। आयोग ने कहा कि सोमवार को राज्य पहुंचने के बाद टीमें बहु और फर्जी प्रविष्टियों के लिए जिम्मेदारी भी तय करेंगी।
कांग्रेस ने मामले में आरोपी दोषी अफसरों के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की है, जिन्होंने एक जनवरी 2018 को यह सूची प्रकाशित की थी। एक व्यक्ति का नाम एक बूथ पर कई बार, अलग-अलग बूथ और अलग-अलग क्षेत्रों में शामिल हैं। पार्टी का आरोप है यह गलती से नहीं बल्कि जानबूझकर किया गया है।