Monday, May 3, 2021
Uncategorized

(LIVE VIDEO) 9 हिन्दुओ की हत्या,2 का गैंगरेप तृणमूल के मुसलमान गुंडों को खुली छूट:

केंद्र सरकार ने राज्य में चुनाव परिणाम के बाद विपक्षी कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर की गई हिंसा को लेकर सोमवार को पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट तलब की। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद कथित तौर पर बीजेपी समेत विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया गया, जहां सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। एक प्रवक्ता ने ट्वीट किया, ” गृह मंत्रालय ने राज्य में चुनाव परिणाम के बाद विपक्षी राजनीतिक कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर की गई हिंसा को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है।”
बीजेपी ने आरोप लगाया है कि हुगली जिले के पार्टी कार्यालय में आगजनी की गई और राज्य में शुभेंदु अधिकारी समेत उसके कई नेताओं को तृणमूल कांग्रेस समर्थकों द्वारा निशाना बनाया गया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की है।
बता दें कि बीजेपी ने रविवार को आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हुगली जिले में उसके पार्टी कार्यालय को आग लगा दी और शुभेंदु अधिकारी समेत उसके कुछ नेताओं के साथ हाथापाई की। पार्टी ने कहा कि यह सब तब किया गया जब चुनाव परिणामों में दिखा कि ममता बनर्जी की पार्टी बंगाल में अपनी सत्ता कायम रखने वाली है। हुगली में पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है और दोषियों को सजा दी जाएगी।
स्थानीय बीजेपी नेता ने दावा किया कि तृणमूल कार्यकर्ताओं ने उनकी पार्टी की प्रत्याशी सुजाता मंडल की हार होने के तुरंत बाद भगवा दल के आरामबाग कार्यालय को आग लगा दी। हालांकि, तृणमूल के सूत्रों ने इन आरोपों से इनकार किया है। स्थानीय बीजेपी नेता ने कहा, “तृणमूल कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी की हार का बदला लेने के लिए आगजनी की और हमारे पार्टी कार्यालय को आग के हवाले कर दिया।”
बंगाल: ननूर में BJP की 2 पोल एजेंट से गैंगरेप का दावा,
कैलाश विजयवर्गीय बोले- 9 कार्यकर्ताओं की हत्या

पश्चिम बंगाल राजनीतिक हिंसा के लिए हमेशा से कुख्यात रहा है। विधानसभा चुनावों में तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की जीत के बाद राज्य में हिंसा का नया दौर शुरू हो गया है। बीजेपी के कार्यकर्ताओं, उनके घरों और कार्यालयों को निशाना बनाने की खबर दो मई से ही लगातार आ रही है। बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या के बाद अब पार्टी की दो पोल एजेंट के साथ गैंगरेप का दावा सोशल मीडिया में किया जा रहा है। इंडिया टुडे ने कहा है कि बीजेपी ने ननूर में तृणमूल के गुंडों पर अपनी दो महिला कार्यकर्ताओं के साथ गैंगरेप का आरोप लगाया है।

इंडिया टुडे के एग्जीक्यूटिव एडिटर दीप हालदार ने भी बंगाल बीजेपी के हवाले से ट्वीट कर कहा है कि बीरभूम में भाजपा की दो महिला पोल एजेंट के साथ गैंगरेप हुआ है और कई महिलाओं को प्रताड़ित किया गया है। हालदार बंगाल में वामपंथी शासनकाल में हुए मरीचझापी नरसंहार पर किताब भी लिख चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट में वकील प्रशांत पटेल उमराव ने भी इसी तरह का दावा किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है, “बीरभूम के ननूर के भाजपा प्रत्याशी की 2 इलेक्शन एजेंट के साथ TMC के मुस्लिम गुंडों नें गैंग रेप किया है। उनमें से 1 गायब है। वहाँ हजारों हिन्दू जान बचाने के लिए घर छोड़कर अज्ञात स्थान पर भागे हैं। पूरे बंगाल में हिंसा का तांडव हो रहा है, कहाँ हैं भद्र बंगाली?”

ननूर में हालात बिगड़ने को लेकर ट्वीट पूर्व सांसद स्वप्न दासगुप्ता ने भी किया है। उन्होंने बताया कि बीरभूम जिले के ननूर में एक हजार से ज्यादा हिंदू परिवार हमलावर भीड़ से जान बचाने के लिए घर छोड़कर भाग गए हैं। महिलाओं के उत्पीड़न की खबरें आ रही है। साथ ही उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को टैग कर इलाके में सुरक्षा बंदोबस्त की गुहार भी लगाई है।

हालात केवल ननूर में ही खराब नहीं हैं। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने एक वीडियो शेयर किया है। इसमें कुछ लोग महिलाओं को पीटते दिख रहे हैं। विजयवर्गीय का दावा है कि टीएमसी के मुस्लिम गुंडे नंदीग्राम के केंदमारी गॉंव में बीजेपी की महिला कार्यकर्ताओं को पीट रहे हैं।

बंगाल के बालुरघाट के सांसद सुकांता मजूमदार ने कुछ तस्वीरें ट्वीट करते हुए दावा किया है कि भटपारा में बीजेपी के कार्यालय और कुछ दुकानों में तोड़फोड़ की गई। इलाके में बम फेंके जाने की बात भी उन्होंने कही है।

कूच बिहार के सांसद निशीथ प्रमाणिक ने भी हिंसा को लेकर ट्वीट किया है। उन्होंने कहा है, “कूच बिहार नाताबारी, दिनहट्टा, सिताई विधानसभा क्षेत्रों में टीएमसी के गुंडे हिंदुओं के घरों पर हमला कर रहे हैं, मंदिर तोड़ रहे हैं, महिलाओं के साथ रेप और लोगों की हत्या की जा रही। सत्ता में आने के बाद नई सरकार यही सब कर रही है। मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूँ और केंद्रीय गृह मंत्रालय से जल्द से जल्द हस्तक्षेप की अपील करता हूँ।”

कैलाश विजयवर्गीय का दावा है कि नतीजों के बाद से बंगाल में 9 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है। इनमें से छह नाम सामने आ चुके हैं। जगदाल में शोभा रानी मंडल, राणाघाट में उत्तम घोष, बेलेघाट में अभिजीत सरकार, सोनारपुर दक्षिण में हरोम अधिकारी, सीतलकुची में मोमिक मोइत्रा और बोलपुर में गौरब सरकार की हत्या का बीजेपी ने दावा किया है।

 

गौरतलब है कि सबसे पहले अभिजीत सरकार की हत्या की खबर आई थी। हत्या से कुछ देर पहले अभिजीत ने फेसबुक लाइव के जरिए TMC के गुंडों की हरकतों के बारे में बताया था। उन्होंने बताया था कि TMC के गुंडे लगातार बमबारी कर रहे हैं। उनके घर और दफ्तर को तहस-नहस कर डाला है। उन्होंने कहा कि उनकी एक ही गलती है कि वे भाजपा कार्यकर्ता हैं।

हिंसा को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रिपोर्ट तलब की है। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पुलिस महानिदेशक और कोलकाता के पुलिस कमिश्नर को तलब कर हिंसा पर तत्काल लगाम लगाने के निर्देश दिए हैं। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा 4 और 5 मई को बंगाल दौरे पर जा रहे हैं। वे हिंसा से प्रभावित कार्याकर्ताओं से भी मिलेंगे।

Leave a Reply