Friday, September 17, 2021
Uncategorized

सांसद की ही आवाज है,गंदी जाहिल और अश्लीलता भरी,लैबोरेटरी ने मान

  • पूर्व सांसद जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी मामले में वायरल आडियो की आवाज मुरादाबाद के सांसद डा.एसटी हसन की ही निकली। लखनऊ विधि विज्ञान की प्रयोगशाला ने जांच में इसकी पुष्टि की है। शुक्रवार को क्राइम ब्रांच ने मुरादाबाद की कोर्ट में नमूने की जांच रिपोर्ट सौंपी। क्राइम ब्रांच ने कोर्ट में अब तक फरार रामपुर नगर पालिका की चेयरपर्सन के पति अजहर के खिलाफ भी आरोप पत्र दाखिल किया है। दूसरी ओर अदालत ने आरोपी सांसद आजम खां व बेटे अब्दुल्ला को सीतापुर जेल से तलब किया है। इसके लिए जेल प्रशासन को मुरादाबाद कोर्ट ने पत्र भेजा है। मामले की अगली सुनवाई अब 20 अगस्त को होगी।

रामपुर की पूर्व सांसद जयाप्रदा पर अभद्र टिप्पणी का मामला सवा दो साल पहले का है। केस की सुनवाई मुरादाबाद में एमपी-एमएलए की विशेष अदालत पुनीत गुप्ता की कोर्ट में चल रही है। इस दौरान अदालत के आदेश पर क्राइम ब्रांच ने साक्ष्य के लिए सांसद डा. एसटी हसन की आवाज का नमूना लिया था। शुक्रवार को क्राइम ब्रांच के विवेचक प्रिंस शर्मा ने अदालत में नमूने की रिपोर्ट पेश की।

विशेष लोक अभियोजक मोहन लाल विश्नोई ने बताया कि नमूने की रिपोर्ट में सांसद एसटी हसन की आवाज आडियो से लिए गए नमूने से मेल खा रही है। क्राइम ब्रांच ने अब तक फरार आरोपी अजहर खां के खिलाफ भी आरोप पत्र दाखिल किया है।
अपर जिला शासकीय अधिवक्ता मुनीश भटनागर के मुताबिक आरोपी सांसद अजहर, डा एसटी हसन समेत पांचों के खिलाफ कोर्ट में आरोप निर्धारित होने है। शुक्रवार को सुनवाई के दौरान आरोपी सांसद डा. एसटी हसन व आरिश कोर्ट में पेश हुए। हालांकि सांसद आजम-अब्दुल्ला सीतापुर जेल में है। अभियोजन पक्ष व क्राइम ब्रांच की रिपोर्ट के आधार पर अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए 20 सितंबर नियत की है।

यह था मामला:
रामपुर के मुस्तफा हुसैन ने कटघर थाने में इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट के मुताबिक 30 जून 2019 को मुस्लिम कालेज में सपा सांसद आजम खां की जीत के सम्मान में हुए कार्यक्रम में सांसद डा. एसटी हसन ने पूर्व सांसद पर अभद्र टिप्पणी की थी। रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने सांसद आजम खां, बेटे अब्दुल्ला, मुरादाबाद के सांसद एसटी हसन के अलावा रामपुर पालिका के चेयरमैन पति अजहर खां, संभल नेता फिरोज खां व आयोजक आरिश हसन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई।

Leave a Reply