ONLY 21+(LIVE VIDEO) गोरखपुर हादसा 13 बच्चे लाश में बदले

0
853
गुरुवार की सुबह भी रोज की तरह ही थी। सुबह साढ़े पांच, छह बजे नींद से जागे। फिर रोज की तरह स्कूल जाने के लिए घरों में मची भागदौड़। रसोई में जुटकर मम्मी ने टिफिन तैयार की। पापा ने बैग तैयार किया। यूनिफार्म पहनकर तैयार ही हुए थे कि बाहर वैन का हार्न सुनाई पड़ा और भागकर उसमें सवार हो गए बच्चे। 
रोज की तरह सब चहक रहे थे। बीते दिन स्कूल बंद होने से लेकर गुरुवार सुबह वैन में सवार होने तक की हजार बातें एक-दूसरे को बताते, शोर मचाते बच्चे स्कूल की ओर बढ़े चले जा रहे थे। तब किसी ने नहीं सोचा था कि थोड़ी ही देर बाद यह वैन एक ऐसे हादसे का शिकार हो जाएगी जिसमें हंसते-खिलखिलाते इन मासूमों की चहंचहाना हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा।