हनी ट्रैप कांड 3: अब तक जो सामने आए,पूर्व राज्यपाल, पूर्व मुख्यमंत्री, 2 मौजूदा मंत्री, तीन पूर्व मंत्री, एक पूर्व सांसद,और और….,

0
1449
5 हार्ड डिस्क में इनके नाम
हार्ड डिस्क में पूर्व राज्यपाल, पूर्व मुख्यमंत्री, 2 मौजूदा मंत्री, तीन पूर्व मंत्री, एक पूर्व सांसद, एक राजनैतिक पार्टी संगठन के बड़े नेताओं के नाम हैं. इनके साथ 5 आईएएस अधिकारी, डीजी रैंक के एक आईपीएस अधिकारी, एडीजी रैंक के 2 अधिकारी, एडिशनल एसपी रैंक के 2 अधिकारी, 3 सीएसपी रैंक के अधिकारी, 10 बड़े बिल्डर और कारोबारी, एक मौजूदा मंत्री के ओएसडी, एक विधायक, सागर के एक नेता, इंदौर के एक नेता के साथ मौजूदा सरकार और पूर्व सरकार के कई नेताओं के नाम हैं.
इसके साथ ही उनके पास से जो मोबाइल बरामद किए गए वह अश्लील वीडियोज से भरे हुए हैं. ये वीडियोज बड़े नेताओं और ‌अफसरों से संबंधित हैं. पुलिस सभी इलेक्ट्रॉनिक सामान की फॉरेंसिक जांच करवाएगी. वहीं पूछताछ में पता चला है कि आरोपी युवतियों को नेताओं-अफसरों और व्यापारियों ने महंगे बंगले और लग्जरी कारें भी तौहफे में दी थीं. वहीं एनजीओ की आड़ में भी उन्हें करोड़ाें का फायदा पहुंचाया गया.

कई राजनेताओं के नाम आए सामने


हनी ट्रैप के मामले में इंदौर पुलिस ने दो युवतियों और भोपाल पुलिस ने तीन महिलाओं के साथ एक पुरुष को गिरफ्तार किया था. इन आरोपियों के पास से पुलिस ने 5 हार्ड डिस्क जब्त की थीं. जब उनकी जांच की गई तो कई नौकरशाहों और राजनेताओं के नाम सामने आए.  इंदौर डीआईजी रुचि वर्धन मिश्रा का कहना है अभी सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की फॉरेंसिक जांच कराई जाएगी जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर कार्रवाई होगी.

युवतियों के मोबाइल में हजारों अश्लील वीडियो मिले हैं.

ऑडी और मर्सिडीज जैसी लग्जरी कारें

युवतियों के पास से पुलिस को लैंड रोवर, मर्सिडीज और ऑडी जैसी लग्जरी कारें भी बरामद हुई हैं. इनमें से एक कार सूबे के बड़े बिल्डर ने गिफ्ट की थी. इसके साथ ही उसने एक बड़ी रेजिडेंसी में प्लाॅट की रजिस्ट्री भी करवाई थी. वहीं एक आईएएस अधिकारी ने आरोपी युवती को भोपाल के पॉश इलाके में फ्लैट दिलवाया था. आरोपी युवती ने सागर के एक नेता का वीडियो भी बनाया था लेकिन उस समय जब सीडी की जांच हुई तो उसे झूठा करार दिया गया था.