छत से लटकी छात्रा की लाश और सुसाइड नोट का रहस्य खुल गया,नकली था सुसाइड नोट

2
बिहार के गोपालगंज जिले के बरौली थाना क्षेत्र के देवापुर गांव के प्लस टू हाई स्कूल की नौंवी की एक छात्रा के शव को सोमवार की देर शाम स्कूल के ही एक कमरे से बरामद किया गया। पुलिस ने शाम को करीब आठ बजे शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। एसपी मनोज तिवारी व सदर एसडीपीओ ने घटनास्थल पर पहुंच  मामले की तफ्तीश की।
एसपी मनोज तिवारी ने बताया कि छात्रा के चचेरे भाई ने कमरे में पंखे से झूल रहे उसके शव को उतार कर पुलिस को करीब डेढ़ घंटे बाद इसकी सूचना दी। परिजनों के अनुसार छात्रा सुबह करीब नौ बजे स्कूल गई थी। शाम तक नहीं लौटने पर उसकी तलाश शुरू की गई तो स्कूल के कमरे में पंखे से लटका उसका शव दिखा। उसके मुंह व हाथ भी बंधे थे।
हत्या से फैली सनसनी
छात्रा की हत्या की खबर जंगल में लगी आग की तरह फैल गई। रात के अंधेरे में सैकड़ों की तादाद में ग्रामीण जुट गए। ग्रामीणों में गम व गुस्सा दिख रहा था। पुलिस आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने में जुटी हुई थी। स्कूल में आस-पास के ग्रामीणों का भी तांता लग गया।
परिजनों में कोहराम
मौत का पता चलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। घर की महिलाएं स्थल पर पहुंच कर रो -बिलख रही थी। आस पड़ोस के लोग भी स्कूल के अहाते में विलाप कर रहे थे।
बुलाई गई फॉरेंसिक जांच टीम
पुलिस ने स्कूल के कमरे व बरामदे को सील कर दिया है। जांच के लिए मुजफ्फरपुर से फॉरेंसिक टीम बुलाई गई है। पुलिस ने स्कूल ब्लिडिंग के सभी कमरों की बारी-बारी से छानबीन की।
चचेरे भाई से पूछताछ
पुलिस वारदात की सूचना देने वाले उसके चचेरे भाई से पूछताछ कर रही है। पंखे से लटकते हुए शव को खुद उतारने के डेढ़ घंटे बाद पुलिस को सूचना दिए जाने से पुलिस को उस पर शक  है। देर रात पुलिस छात्रा के घर पहुंच कर परिजनों से भी घटना के संबंध में जानकारी लेने में जुटी हुई थी।
मामले की छानबीन की जा रही है। अब तक हत्या के कारणों व हत्यारों का पता नहीं चला है। अनुसंधान व पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही मामले का खुलासा हो सकेगा।
-मनोज कुमार तिवारी, एसपी, गोपालगंज
 बरौली थाना क्षेत्र के देवापुर गांव स्थित प्लस टू विद्यालय की छात्रा की हत्या की साजिश उसके प्रेमी ने ही रची थी। पुलिस ने अंकित कुमार पटेल व उसके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार कर लिया। तीनों आरोपित ने इस घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। बुधवार को एसडीपीओ कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान सदर एसडीपीओ नरेश पासवान ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूछताछ के बाद तीनों युवकों को जेल भेज दिया गया।
एसडीपीओ ने बताया कि देवापुर गांव की छात्रा की हत्या उसके प्रेमी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर की थी। उन्होंने बताया कि छात्रा का प्रेम प्रसंग अंकित के साथ चल रहा था। उसी गांव का निरंजन पटेल भी उससे नजदीकी बढ़ा रहा था। घटना के दिन छात्रा अंकित पटेल के साथ विद्यालय की गैलरी में बात कर रही थी। इसी बीच निरंजन पटेल उर्फ भुवर तथा दुर्गेश साह भी उनके पास पहुंच गए। पुलिस का कहना है कि उन दोनों के साथ मिलकर अंकित ने छात्रा की हत्या कर दी। हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए उसके शव को फंदे से लटका दिया।
क्या था हत्या का कारण !
पुलिस का कहना है कि अंकित, निरंजन और एक अन्य ने मिलकर छात्रा की हत्या कर दी। हालांकि यह हत्या क्यों की गई, इसका कोई कारण नहीं बताया गया है।
हत्या के पूर्व आरोपितों ने छात्रा से लिखवाया था सुसाइड नोट
गोपालगंज : हत्या करने के पूर्व तीनों आरोपितों ने छात्रा से जबरन एक सुसाइड नोट लिखवाया था। उसमें लिखा था कि यह हत्या नहीं है। छात्रा ने लिखा था कि मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रही हूं। इसमें अंकित कुमार पटेल व निरंजन कुमार पटेल का कोई दोष नहीं है। एसडीपीओ नरेश पासवान ने बताया कि छात्रा की हत्या करने के पूर्व तीनों आरोपितों ने उसके साथ मारपीट भी की थी। इस सुसाइड नोट को पढ़ने के बाद पूरी तरह से साफ हो गया कि छात्रा की हत्या कर उसे आत्महत्या का रूप देने का कार्य किया गया है। इनसेट
स्पीडी ट्रायल से होगी मामले की सुनवाई
एसडीपीओ ने बताया कि इस हत्याकांड का स्पीडी ट्रायल कराया जाएगा। फॉरेंसिक टीम की जांच रिपोर्ट भी अबतक पुलिस को नहीं मिल सकी है। जल्द ही यह रिपोर्ट पुलिस को मिल जाएगी। इनसेट
किताब को आधार बना हत्यारों तक पहुंची पुलिस
छात्रा का शव बरामद करने के बाद हत्या की गुत्थी को सुलझाने में पुलिस की मदद शव के पास मिले एक किताब ने की। इस किताब पर अंकित नाम लिखा हुआ था। पुलिस ने देवापुर गांव के लोगों से अंकित नाम के युवक के बारे में जानकारी प्राप्त की। इसी क्रम में पुलिस को पता चला कि छात्रा से अंकित का प्रेम प्रसंग था। इसके बाद पुलिस ने अंकित को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया।
हत्या के बाद विद्यालय की छात्राएं दहशत में
गोपालगंज :छात्रा की हत्या कर उसके शव को क्लास रूम में लटकाए जाने की घटना के बाद विद्यालय की अन्य छात्राएं दहशत में हैं। घटना के बाद लगातार दूसरे दिन भी काफी कम संख्या में छात्राएं विद्यालय पहुंची। छात्राओं में इस घटना के बाद खौफ का माहौल है। इनसेट
विद्यालय प्रबंधन की लापरवाही पर भी पुलिस कर रही जांच
गोपालगंज : देवापुर गांव स्थित प्लस टू विद्यालय में सोमवार को दोपहर तीन बजे तक पढ़ाई हुई थी। विद्यालय समाप्त होने के बाद सभी शिक्षक विद्यालय के अन्य कमरे में ताला बंद करने के बाद मुख्य गेट में ताला लगाकर अपने अपने घर चले गए। लेकिन छात्रा का शव जिस क्लास रूम से बरामद किया गया, उस कमरे में कोई ताला नहीं लगाया गया था। ऐसे में सवाल उठ रहे है कि उस कमरे में ताला क्यों नही बंद हुआ था। फिलहाल पुलिस विद्यालय के शिक्षकों से भी इस मामले में जानकारी प्राप्त करने में जुट गई है कि विद्यालय के मुख्य गेट को बंद करने के पूर्व सभी कमरों को ठीक से क्यों नहीं देखा गया।