5 साल कोई काम न होने के कारण मनमोहन सिंह को बना सकते है अध्यक्ष, कमान रहेगी गांधी परिवार में,आखिरी साल फिर राहुल गांधी अध्यक्ष

0
523
अगले लोकसभा चुनाव तक राहुल गांधी पद से मुक्ति चाहते हैं और इसके लिए एक जनाधार विहीन व्यक्ति चाहिए सूत्र बताते हैं कि गांधी परिवार को सबसे आज्ञाकारी चेहरा मनमोहन सिंह का दिखाई दे रहा है
लोकसभा चुनावों (lok sabha elections 2019) में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी अध्‍यक्ष का पद छोड़ने के लिए राहुल गांधी अड़ गए हैं. कांग्रेस नेताओं के मनाने के बावजूद सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी इस्‍तीफा वापस नहीं लेंगे. इस सूरतेहाल में सूत्रों के मुताबिक गांधी परिवार से बाहर मनमोहन सिंह जैसे बड़े नेता को पार्टी अध्‍यक्ष का कार्यभार दिया जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक वरिष्‍ठ नेता को कांग्रेस अध्‍यक्ष और चार कार्यकारी अध्‍यक्ष के फॉर्मूले पर विचार किया जा रहा है. चार कार्यकारी अध्‍यक्ष देश भर में घूमने का काम करेंगे. पार्टी का प्रचार प्रसार करेंगे.
इस्तीफे पर अड़े हैं राहुल
लोकसभा चुनाव में करारी हार के कारण कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पद से इस्तीफा देने के अपने रुख पर मंगलवार को भी अड़े रहे. हालांकि सहयोगी दल द्रमुक तथा पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने उनसे अपना निर्णय वापस लेने का आग्रह किया. इस बीच, कांग्रेस में बैठकों और मुलाकातों का दौर भी जारी रहा. पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने राहुल से मुलाकात कर उनके रूख पर मंत्रणा की. कई दूसरे नेता भी राहुल गांधी के आवास पर पहुंचे.
सूत्रों के मुताबिक प्रियंका, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गांधी से मुलाकात की. कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि गांधी इस्तीफा देने के अपने रुख पर अड़े हुए हैं . हालांकि पार्टी के नेता उन्हें मनाने की कोशिश में जुटे हैं. इस बीच, यह भी जानकारी सामने आई है कि बुधवार को कुछ प्रदेशों में कांग्रेस की कार्यकारिणी की बैठक हैं जिनमें प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी से यह अपील की जा सकती है कि वह अध्यक्ष पद पर बने रहें. द्रमुक के अध्यक्ष एम के स्टालिन ने भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अपने पद से नहीं हटने का अनुरोध किया और कहा कि उनकी पार्टी भले ही आम चुनाव हार गयी लेकिन राहुल ने लोगों का दिल जीता है.