Tuesday, January 12, 2021
Uncategorized

(LIVE VIDEO) आदिवासी को दौड़ा दौड़ा कर मारा,सारे सेक्युलर मुंह छुपा कर गायब

छत्तीसगढ़ में एक कॉन्ग्रेस नेता की सरेआम दबंगई कैमरे में कैद हो गई, जिसके बाद उसकी जम कर थू-थू हुई। वीडियो में रायपुर के पार्षद कामरान अंसारी अपने समर्थकों के साथ एक युवक को दौड़ा-दौड़ा कर पीटते हुए नजर आ रहा है, जबकि पीड़ित की माँ लगातार उसे छोड़ देने के लिए मिन्नतें कर रही हैं। बावजूद इसके सब मिल कर युवक को पीटते रहे। पीड़ित आदिवासी समुदाय का है। कॉन्ग्रेसी पार्षद ने ‘उल्टा चोर कोतवाल को डाँटे’ की तर्ज पर युवक के खिलाफ FIR भी लिखवा दी।
रविवार (जनवरी 10, 2021) को हुई इस घटना के बाद अगले दिन भाजपा नेता हरकत में आए और अनुसूचित जाति-जनजाति थाने पहुँचे, जहाँ पार्षद के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई। युवक की माँ ने बताया कि कामरान अंसारी के समर्थकों ने घर पर आकर भी धमकाया है। माँ का कहना है कि उनका बेटा अब तक घर वापस नहीं आया है और लापता है, जिससे परिजन डर के माहौल में जी रहे हैं।
परिजनों का कहना है कि लगातार गुहार लगाने के बावजूद युवक को नहीं छोड़ा गया और जब वो पुलिस में शिकायत दर्ज कराने गए तो वहाँ से भी भगा दिया गया। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस की सरकार चल रही है। परिजन फिर से थाने जाकर शिकायत दर्ज कराने के प्रयास में लगे हुए हैं। वहीं पार्षद का कहना है कि युवक नशे में था और कार्यालय में आकर तोड़फोड़ करने लगा व हत्या की धमकी देने लगा।
कामरान अंसारी ने युवक को लात मारने की बात स्वीकार करते हुए दावा किया कि परिस्थिति ही ऐसी हो गई थी और उसे दफ्तर से बाहर निकालने के लिए ऐसा किया गया। पार्षद ने अपनी शिकायत में युवक पर नशे के कारोबार से जुड़े होने और अवैध गतिविधियाँ चलाने का आरोप लगाया है। राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा, “सत्ता के नशे में चूर कॉन्ग्रेस पार्टी के जनप्रतिनिधि द्वारा आदिवासी समाज की महिला एवं उसके पुत्र के साथ इस प्रकार का अत्याचार कॉन्ग्रेस पार्टी का जनजातीय समाज के प्रति सोच को दर्शाता है।”

उन्होंने कहा कि इस घटना की जितनी भत्सना कि जाए, उतनी कम है और साथ ही आश्वासन दिया कि भाजपा परिवार पीड़ित परिवार के साथ ‘सदैव खड़ी’ है। उन्होंने कहा कि जनजातीय समाज के साथ इस प्रकार का अन्याय सहन नही किया जाएगा और साथ ही माँग की कि दोषियों के विरुद्ध तीव्र कार्यवाही की जाए। पुलिस ने पीड़ित युवक जय और उसके साथियों सोहन व इंदर के खिलाफ सिविल लाइन थाने में FIR दर्ज की है।

इससे पहले तेलंगाना के आदिलाबाद शहर में 18 दिसंबर को ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता फारूक अहमद द्वारा अंधाधुंध गोलीबारी की गई थी। घटना में घायल हुए तीन लोगों में से एक व्यक्ति ने 1 सप्ताह बाद इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। यह घटना क्रिकेट खेलने के दौरान हुई थी, जो हाथापाई में बदल गई। फारूक ने अपने विरोधियों पर बहुत करीब से गोलीबारी शुरू कर दी थी।

Leave a Reply