लव जिहाद भारी पड़ गया मोहम्मद उमर सैद को,गोलियों से छलनी हुआ जिस्म

0
170
एक शादी करने बाद भी मोहम्मद उमर के अंदर जवानी की हिलोरे उठ रही थी और निशाने पर थी एक हिन्दू लड़की,बहला फुसलाकर कर अधेड़ आयु के उमर ने निकाह कर लिया।
उमर पहले से ही शादीशुदा था लेकिन वह इतने से ही संतुष्ट नहीं था. फिर उसकी नजर एक हिन्दू लड़की पर पड़ी, जिसे पाने के लिए वह जी जान से जुट गया. उसने कैसे भी करके हिन्दू लड़की से दोस्ती की, दोस्ती आगे बढ़ी तो दोनों को प्यार हो गया. फिर उमर ने हिन्दू लड़की से निकाह कर लिया. इसके बाद जो हुआ, उसने पूरे हरियाणा में हड़कंप मचा दिया. हिन्दू लड़की से निकाह करने पर उमर को गोलियों से भून डाला गया.
मामला हरियाणा के पलवल जिले के हथीन का है जहाँ हिन्दू लड़की से निकाह करने के कारण 52 वर्षीय शख्स उमर शेद की बाइक सवार दो युवकों ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी. उमर शेद की यह दूसरी शादी थी. हत्या की वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. वारदात से गुस्साए उमर के परिजनों ने रोड पर जाम लगा दिया, जिससे यातायात बाधित हो गया. आधे घंटे तक लगे जाम को परिजनों ने पुलिस के आश्वासन के बाद खोला. इसके बाद पुलिस ने मृतक उमर के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया.
जानकारी के मुताबिक़, इस वारदात को बाइक सवार युवकों ने तब अंजाम दिया, जब उमर शेद बाइक से कहीं जा रहा था. इसे लेकर मृतक के पिता दाउद ने पुलिस को शिकायत दी. उन्होंने कहा कि उनके बेटे उमर शेद की शादी चार महीने पहले रेवाड़ी जिला निवासी बबीता (काल्पनिक नाम) से हुई थी. शिकायत के मुताबिक, 7 फरवरी 2019 को बबीता के परिजनों ने नजदीकी थाने में मुकदमा दर्ज कराया, जिसके बाद वहां से पुलिस आई और शेद व बबीता को अपने साथ ले गई. फिर बबीता के परिजन उसे अपने साथ ले गए.
शिकायत के मुताबिक, अपनी जान का खतरा देखते हुए बबीता ने सारी जानकारी व्हाट्सप पर उमर शेद को दे दी, जिसके बाद शेद ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. इसी बीच बबीता दोबारा भागकर शेद के पास आ गई. इसके बाद बबीता के परिजनों की तरफ से शेद के पास फोन आने लगे और वे फोन पर लगातार धमकियां दे रहे थे. धमकियां मिलने के बाद उमर शेद ने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर सुरक्षा मांगी और उन्हें सुरक्षा मिल गई.
8 सितंबर सुबह 7:00 बजे जब उमर बाइक पर सवार होकर किसी काम से बाजार जा रहा था, तब सुरक्षाकर्मी उसके साथ नहीं थे. उसी दौरान पीछे से बाइक पर आए दो युवकों ने उमर शेद पर ताबड़तोड़ गोलियों से हमला कर दिया. हमलावरों ने आठ-दस राउंड फायर किए. उमर शेद को सात गोली लगी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. पुलिस ने मृतक के पिता की शिकायत पर बबीता के परिजन जसवंत सिंह, सतवीर सिंह, रविंद्र, बीरसिंह, सुबे सिंह, धर्मबीर, सतपाल सिंह, सतेंद्र सिंह, हवा सिंह, नरेंद्र लोहिया व चरण के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पोस्टमॉर्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है.