लव जिहाद का एंगल उभरा हिन्दू लड़कीं मानसी दीक्षित की हत्या में,मोहम्मद मुज़ज़्मील, बेरोजगार आवारा उधारखोर था

0
1430

1. 20 साल की मॉडल मानसी दीक्षित की हत्या की गुत्थी बांगुर नगर पुलिस ने चार घंटे में सुलझा ली। इस केस के डिटेक्शन में पुलिस को एक ओला ड्राइवर की मदद मिली, जिसकी गाड़ी में आरोपी मुजम्मिल सईद सूटकेस लेकर जा रहा था। आरोपी ने अपने घर में ही उसकी हत्या की थी। मुजम्मिल को सोमवार को मेट्रोपोलिटन कोर्ट में पेश किया गया। अदालत ने उसे 22 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड में भेज दिया है।

2.

पुलिस के अनुसार, मानसी मॉडलिंग करने के साथ-साथ अंधेरी में एक इवेंट और फाइनैंस कंपनी भी चलाती थीं और शास्त्री नगर में रहती थीं। वह मूल रूप से राजस्थान के कोटा शहर की रहने वाली थीं और छह महीने पहले ही मुंबई आई थीं। आरोपी मुजम्मिल शेख का परिवार मूल रूप से हैदराबाद से ताल्लुक रखता है लेकिन परिवार का एक घर जोगेश्वरी इलाके में है। वह पढ़ाई कर रहा है और अभी उसका ग्रेजुएशन पूरा नहीं हुआ है।

3.

पुलिस का कहना है कि दोनों लंबे समय से दोस्त थे। सोमवार को दोनों के बीच किसी बात पर झगड़ा हुआ। इसी में गुस्से में उसने लकड़ी के स्टूल को उसके सिर पर दे मारा। इसी में मानसी की मौत हो गई, उसके बाद मुजम्मिल ने मानसी की लाश को घर में रखे एक सूटकेस में रखा फिर ओला बुक की और ड्राइवर से एयरपोर्ट चलने को कहा। बाद में उसने बीच रास्ते में ड्राइवर से मलाड में गाड़ी रोकने को कहा। वह वहां उतरा, एक झाड़ी के पास पहुंचा और सूटकेस को वहीं फेंक दिया। बाद में उसने ऑटो पकड़ा और फिर उसमें बैठकर कहीं चला गया। ओला ड्राइवर को कुछ शक हुआ, उसने फौरन पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने वह फोन नंबर मांगा, जिससे ओला बुक की गई थी। मोबाइल कंपनी से मंगाई गई डीटेल में यह नंबर मुजम्मिल सईद का निकला। उसका लोकेशन निकाला गया और चार घंटे में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

4.

मानसी दीक्षित की बस एक गलती थी कि वो मुजम्मिल की आर्थिक मदद करती थी और उसकी परेशानी में अच्छे से बात कर लेती थी,मुजम्मिल ने इसे इश्क समझ लिया और उसके पैसे को खुद का साथ ही उसपर दबाव बनाने लगा निकाह करने का,उसने अच्छे से समझाया मना किया लेकिन नतीजा हत्या में निकला।

5.

मैं जब लोगों की जिंदगी से जाती हूं तो निशां छोड़ जाती हूं, यह अच्छा हो या बुरा लेकिन आप इसके जरिए मुझे हमेशा याद रखेंगे।’ अपनी तस्वीर में इस कैप्शन में मानसी दीक्षित ने जो लिखा, वह उसके दोस्त और हत्या के आरोपी मुजम्मिल इब्राहिम के लिए सही साबित हुआ। 20 साल की मॉडल के हत्या के आरोप में मुजम्मिल को 7 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। मुजम्मिल 22 अक्टूबर तक रिमांड पर रहेगा।

6.

मुजम्मिल ने पुलिस पूछताछ में स्वीकार भी किया था कि उसने मानसी को किसी बात पर नाराज होकर स्टूल फेंककर मार दिया था। इससे मानसी की मौत हो गई। इसके बाद मुजम्मिल ने उसका शव सूटकेस में भरकर सड़क किनारे झाड़ी में फेंक दिया था।
20 साल की मानसी राजस्थान के छोटे से शहर कोटा से 6 महीने पहले ही मुंबई आई थी। यहां वह मॉडलिंग कर रही थीं लेकिन उसे क्या पता था कि इसी शहर में उसके अपने होने का दावा करने वाले उसकी जान ले लेंगे। मानसी की हत्या का आरोपी उसका दोस्त था और एक कॉमन फ्रेंड के जरिए दोनों की जान-पहचान हुई थी।

7.

सोशल मीडिया पर ऐक्टिव
मानसी सोशल मीडिया पर काफी ऐक्टिव थीं। फेसबुक और इंस्टाग्राम पर उनकी तस्वीरें हैं जिसके जरिए मानसी अपने जीवन का फलसफा बताती हैं। मानसी ने फेसबुक पर अपनी प्रोफाइल पर बैकग्राउंड इमेज लगाई थी जिसमें लिखा था, ‘आई एम मी, मैं, मैं हूं और यह तुम कभी नहीं हो सकते।’ मानसी ने यह पोस्ट 4 साल पहले किया था, जब वह महज 16 साल की रही होगी।

8.

करियर के लिए थीं कॉन्फिडेंट
यह बताता है कि वह अपने फ्यूचर और करियर को लेकर पहले से ही कॉन्फिडेंट थी, इसलिए शायद चकाचौंध से भरे मॉडलिंग क्षेत्र को चुना जहां खुद की पहचान के लिए कॉन्फिडेंट होना बेहद जरूरी है। मानसी घूमने की भी बेहद शौकीन थी। उनकी फेसबुक प्रोफाइल बताती है कि इसी साल वह यूएई और थाईलैंड की सैर कर चुकी थीं। हिंदी फिल्मों की शौकीन होने के साथ वह अपनी भी फेवरिट थीं। सोशल मीडिया पर मानसी के डब्समैश विडियो कुछ ऐसा ही बताते हैं।

9. अपनी कमियां को जानती थीं
एक आम लड़की की तरह उनमें कुछ कमियां भी थी जो वह स्वीकार करती थीं। एक पोस्ट में मानसी लिखती हैं, ‘मैं तुम्हारी तरह परफेक्ट नहीं हूं। मुझमें भी असुरक्षा की भावना है, मुझमें भी कमियां हैं। मुझे अभी भी जिंदगी में काफी कुछ सीखना है लेकिन मैं अपने जीवन, अपने सफर का आनंद ले रही हूं। जीवन ने जो दिया उसे स्वीकार कर रही हूं और भगवान की शुक्रगुजार हूं।’