तेजस्वी यादव ने हराया लालू प्रसाद यादव को ,लालू पर 48 में भ्र्ष्टाचार का मामला तेजस्वी पर 28 में

0
283

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को शुक्रवार को राहत देते हुए पटियाला हाउस अदालत ने IRCTC स्कैम से जुड़े मामले में दोनों को जमानत दे दी, लेकिन इसे लेकर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने तेजस्वी यादव पर तंज कसने का मौका नहीं छोड़ा.

जेडीयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि अपने छोटे राजनीतिक जीवन में तेजस्वी पहली बार भ्रष्टाचार के आरोपी बन कर कोर्ट में पेश हुए. इस मामले में तो तेजस्वी यादव ने अपने पिता लालू प्रसाद को भी पीछे छोड़ दिया. लालू प्रसाद 48 साल में चारा घोटला में आरोपी बने थे लेकिन तेजस्वी यादव तो 28 साल में ही रेलवे टेंडर घोटला मामले में आरोपी बन गए. इस लिहाज से उन्होंने अपने पिता को भी पीछे छोड़ दिया. उन्होने कहा, कम उम्र में यह उपलब्धि हासिल करने के लिए तेजस्वी को बधाई.

संजय सिंह ने कहा कि किसी भी बच्चे के लिए घर ही पहली पाठशाला होता है. घर से जो संस्कार मिलते हैं बच्चा वही सीखता है. तेजस्वी यादव ने घर से जो सीखा आज उसकी उपलब्धि सामने आ रही है. संजय सिंह ने तेजस्वी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि शिक्षा से वास्ता नहीं, ईमानदारी का रास्ता नहीं.

जेडीयू के दूसरे प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि उन्हें केवल बेल मिली है, आरोपमुक्त नहीं हुए हैं इसलिए ज्यादा खुश होने की जरूरत नहीं है. किसी सामाजिक कार्य के लिए उनपर आरोप तय नहीं हुआ है बल्कि बेनामी संपत्ति अर्जित करने के आरोप में उनपर चार्जशीट दाखिल हुई है इसलिए कोर्ट में पेश होकर गौरव महसूस ना करें.