Home Uncategorized टुकड़े टुकड़े गैंग का सरगना कन्हैया कुमार हार गया खुद के ही...

टुकड़े टुकड़े गैंग का सरगना कन्हैया कुमार हार गया खुद के ही गांव में,गज़ब नकारा छोटे से गांव के लोगो ने

0
833
टुकड़े टुकड़े गैंग का सरगना कन्हैया कुमार कम्युनिस्ट पार्टी का मुखिया बन कर संसद में घुसना चाह रहा था लेकिन ऐसी दुर्गति की उसको उम्मीद नही थी,उसके गांव की राष्ट्रवादी जनता ने ही उसको नकार दिया।अपने गांव बीहट में ही कन्हैया कुमार को वोटर्स ने नकारा।टुकड़े-टुकड़े काण्ड से चर्चा में आये कन्हैया कुमार में वामपंथियों को लगा कि उनके संगठन को बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए संजीवनी मिल गयी है। इसलिए उन्होंने काफी समय पहले से कन्हैया कुमार को अपना भावी नेता  और बिहार की बेगूसराय सीट से अपना प्रत्याशी  के तौर पर प्रोजेक्ट कर दिया था। वामपंथियों यानी सीपीआई को ऐसा लगने लगा था कि मिनी मास्को में इस बार सर्वहारा की जीत और इनक्लाब का झण्डा बुलंद होना तय है। लेकिन चुनाव नतीजों के बाद जो आकंड़े सामने आये हैं वो न केवल कन्हैया कुमार बल्कि सीपीआई के लिए भी बेहद शर्मनाक हैं। स्थिति इतनी खराब है कि अगर ये चुनाव म्यूनिसपैलिटी स्तर के भी होते तो भी कन्हैया कुमार को मुंह की खानी पड़ती। हालांकि कन्हैया कुमार के समर्थन के लिये सीताराम येचुरी, जावेद अख्तर, प्रकाश राज, स्वरा भास्कर, शबाना आजमी जैसे दिग्गजों ने बेगूसराय में ऐड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था। फिर भी नतीजा ढाक के तीन पात ही रहा।
टीवी चैनलों पर इंकलाब की आंधी लाने वाले वामपंथी नेता कन्हैया कुमार को अपने घर और अपने बूथ पर भी जीतने लायक वोट नहीं दिलवा पाये। खुद कन्हैया कुमार को अपने घर बीहट के मुहल्ले पर बने बूथों पर भी एनडीए के प्रत्याशी गिरीराज सिंह से काफी कम वोट मिले हैं। बीहट के वार्ड क्रमांक 15 के पर कन्हैया कुमार को 703 तो गिरीराज सिंह को 807 वोट मिले। सीपीआई के जिले के सबसे बड़े नेता शत्रुघ्न प्रसाद सिंह अपने गांव सफापुर के बूथ संख्या 260 पर कन्हैया कुमार को मात्र 95 वोट ही दिलवा पाए। जबकि यहां गिरिराज सिंह को 610 वोट आए और तनवीर हसन को 93 वोट मिला। इसी तरह मटिहानी के 15 वर्ष तक विधायक रहे राजेन्द्र राजन के गांव गोदरगामा में बूथ संख्या 253 पर कन्हैया को 181 वोट मिला जबकि गिरिराज सिंह को यहां 617 वोट मिले। यहां तनवीर हसन को 62 वोट मिले। इसी तरह सीपीएम नेता अंजनी सिंह महेन्द्रपुर गांव के अपने बूथ संख्या 121 पर 125 वोट ही कन्हैया को दिलवा पाए। जबकि यहां एनडीए को 653 वोट मिला। वहीं महागठबंधन को मात्र 55 वोट ही मिल सके।
कन्हैया के लिए प्रचार में जुटे सीपीआई के राज्य परिषद सदस्य अनिल कुमार अंजान सिहमा स्थित अपने ही बूथ पर कन्हैया के लिए वोट नही डलवा पाए। उनके बूथ संख्या 137 पर सीपीआई को 56, एनडीए को 304 और महागठबंधन को मात्र 20 वोट मिले। सीपीआई के अवधेशस राय एक मात्र ऐसे नेता रहे जिनके क्षेत्र में सीपीआई यानी कन्हैया कुमार को सबसे ज्यादा 335 वोट मिले।