नरेंद्र मोदी का मास्टर स्ट्रोक,मेहुल चौकसी चाहिए मतलब चाहिए,एंटीगुआ ने नागरिकता रद्द करने आदेश दिए

0
143
“या तो हमसे निभा लो या मेहुल चौकसी से”
नरेंद्र मोदी सरकार के भारी दबाव के चलते और अपराध एवम अपराधी को पनाह न देने की नीति के चलते मेहुल चौकसी हिंदुस्तान के सुपुर्द होगा।।पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को जल्द ही भारत वापस लाया जा सकता है। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने इस संदर्भ में बयान दिया है कि वह जल्द ही मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द करने वाले हैं। ब्राउन के मुताबिक, भारत की ओर से लगातार इसको लेकर दबाव बनाया जा रहा था।
चोकसी की नागरिकता होगी रद्द
बता दें कि चोकसी एंटीगुआ में रह रहा था। इस संदर्भ में एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने कहा है कि, मेहुल चोकसी को पहले यहां की नागरिकता मिली हुई थी। लेकिन अब इसे रद्द कर उसे भारत प्रत्यर्पित किया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम किसी भी ऐसे व्यक्ति को अपने देश में नहीं रखेंगे, जिसपर किसी तरह के आरोप लगे हों।
चोकसी के पास कोई रास्ता नहीं
अब एंटीगुआ में मेहुल चोकसी पर किसी तरह का कानूनी रास्ता नहीं बचा है, जिससे वह बच सके इसलिए उसका भारत लौटना लगभग तय है।
उन्होंने कहा कि चोकसी से जुड़ा मामला फिलहाल कोर्ट में है, इसलिए उसे भारत प्रत्यर्पित करने से पहले पूरी प्रक्रिया का पालन करना होगा। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने इसको लेकर भारत सरकार को पूरी जानकारी दे दी गई है। चोकसी को सभी कानूनी प्रक्रिया पूरी करने का समय भी दिया जाएगा।
बता दें कि चोकसी पर पंजाब नेशनल बैंक को लगभग 14 हजार करोड़ रुपये का चूना लगाकर विदेश फरार होने का आरोप है। उसके प्रत्यर्पण के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही थी।
सर्जरी के लिए छोड़ा था भारत
इससे पहले भारत आने से इनकार करते हुए चोकसी ने कहा था कि वह स्वास्थ्य कारणों के चलते यात्रा नहीं कर सकता है और उसने दिल की सर्जरी के लिए भारत छोड़ा था। इसके साथ ही उसने कहा था कि वह स्वस्थ होने पर ही भारत लौटेगा।
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले का मुख्‍य आरोपित और भगोड़ा कारोबारी मेहुल चोकसी को भारत लाने की तैयार शुरू हो गई है। दरअसल प्रर्वतन निदेशालय (ईडी) ने शनिवार को मुंबई की एक कोर्ट में इससे संबंधित एक हलफनामा दाखिल किया है।
चोकसी को लाने के लिए एयर एंबुलेंस देने को तैयार ईडी
ईडी ने कोर्ट में दायर अपने हलफनामा में कहा है कि हम मेहुल चोकसी को मेडिकल सुपरविजन में एंटीगुआ से स्‍वदेश लाने के लिए मेडिकल की विशेषज्ञों की टीम और एयर एंबुलेंस देने के लिए भी तैयार हैं। दरअसल पिछली बार चोकसी ने अपने  हलफनामे में कहा था कि मेरा स्‍वास्‍थ्‍य खराब है। इसलिए ईडी और सीबीआई एंटीगुआ आकर हमसे पूछताछ कर सकती हैं।
13,700 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोपित है चोकसी
मेहुल चोकसी 13,700 करोड़ रुपये के पंजाब‍ नेशनल बैंक घोटाले में आरोपित है। वह देश छोड़कर भाग हुआ है। 15 जनवरी,  2018 को उसे एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता भी मिल चुकी थी। उसके बाद से चोकसी वहीं रह रहा है।