विश्व हिंदू परिषद नेता को गोलियाँ मारी सरे आम ,हत्यारे हुए फरार

0
340
मध्यप्रदेश के मंदसौर में विश्व हिंदू परिषद के एक नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान युवराज सिंह चौहान के रूप में हुई है। हालांकि, हमलावरों का पता नहीं चल सका है। हमला करने वाले बाइक पर सवार थे और गोली मारने के बाद घटनास्थल से फरार हो गये।
इस घटना को अभिनंदन नगर रेलवे अंडरपास के पास अंजाम दिया गया। पुलिस ने बताया कि फिलहाल हमलावरों के बारे में जानकारी नहीं मिल पाई है। आसपास के लोगों से पूछताछ हो रही है।
पेशे से वकील और केबल नेटवर्क संचालक युवराज पर ये हमला तब हुआ जब वे एक होटल के सामने खड़े थे। इसी दौरान बाइक पर सवार तीन बदमाश आये और फायरिंग शुरू कर दी। घटना के बाद युवराज को तत्काल अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें डॉ़क्टरों ने मृत घोषित किया। मामले में पुलिस जांच कर रही ह
  • विहिप और संघ से जुड़े रहने के साथ मृतक युवराज सिंह का केबल कारोबार भी था
मंदसौर. शहर में बुधवार को विहिप नेता और संघ से जुड़े युवराज सिंह चौहान की अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। युवराज शहर में केबल नेटवर्क का भी संचालन करते थे। हमलावरों ने उन्हें तीन गोलियां मारीं। एक गोली उनके सिर पर लगी। इससे मौके पर ही मौत हो गई।
वारदात के बाद आसपास के लोगों ने उन्हें टैक्सी से अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना के बाद हजारों की संख्या में लोग एकत्रित हो गए। भारी तनाव को देखते हुए इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस ने हमलावारों की तलाश में शहर में नाकेबंदी कर दी है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे भी चेक किए जा रहे हैं।
प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, ‘सुबह करीब 11 बजे चौहान गीता भवन अंडर ब्रिज के पास स्थित बिजली कांउटर पर बिल जमा करने पहुंचे थे। बिल भरने के बाद वे पास ही मौजूद एक होटल में पहुंचे। वे बेंच पर बैठने ही वाले थे कि बाइक पर सवार तीन हमलावर आए और एक के बाद एक उन्हें पीछे से तीन गोली मारी। जब तक लोग कुछ समझ पाते हमलावर भाग चुके थे। हमलावरों में से पीछे बैठे दो ने मुंह ढंक रखा था, जबकि बाइक चालक का मुंह खुला था।’
केबल नेटवर्क के संचालक भी थे चौहान
युवराज सिंह चौहान वर्तमान में विश्व हिंदू परिषद के सहमंत्री थे। इसके अलावा शहर में वे एसआरएम केबल नेटवर्क के संचालक भी थे। शुरुआती जानकारी में पता चला है कि इसी केबल नेटवर्क को लेकर उन पर हमला किया गया है। पिछले साल इंदौर में एक केबल कारोबारी की सुपारी देकर हत्या करवा दी गई थी, जिसके तार मंदसौर से भी जुड़े हैं।