क्या प्रियंका गांधी की गुस्सा करने की बीमारी फिर उभर गयी है,INTERMITTENT EXPLOSIVE DISORDER

0
302
प्रियंका गांधी के व्यवहार से नाराज जिलाध्यक्ष समेत कई पदाधिकारियों ने दिया इस्तीफा,
भदोही कांग्रेस की अध्यक्ष नीलम मिश्रा ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के व्यवहार पर सवाल उठाए और अपनी नाराजगी जाहिर की.
यूपी में जहां कांग्रेस पार्टी अपना पूरा दमखम लगा रही है वहीं छठे चरण का मतदान इनके लिए बुरी खबर ले लाया. पूर्वी यूपी की कमान संभाल रहीं प्रियंका गांधी जो पार्टी को एकजुट करने के लिए जी जान से जुटी हैं के लिए ये खबर किसी झटके से कम नहीं. हुआ ये है कि भदोही जनपद की कांग्रेस जिलाध्यक्ष समेत कई पदाधिकारियों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. भदोही कांग्रेस की अध्यक्ष नीलम मिश्रा ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के व्यवहार पर सवाल उठाए और अपनी नाराजगी जाहिर की.

नीमल मिश्रा का कहना है कि शनिवार को उन्होंने क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार के खिलाफ प्रियंका से शिकायत की, लेकिन उन्होंने बात सुनने की बजाए, उनके खिलाफ कठोर शब्दों का इस्तेमाल किया.  नीलम मिश्रा ने कहा कि शुक्रवार को कांग्रेस उम्मीदवार रमाकांत यादव के समर्थन में प्रियंका गांधी की एक रैली का आयोजन किया गया, लेकिन किसी भी पदाधिकारी को रैली में आमंत्रित नहीं किया गया. इस संबंध में प्रियंका गांधी से शिकायत भी की गई.

नहीं दिया शिकायत पर ध्यान
उन्होंने प्रियंका के व्यवहार पर कहा कि PRIYANKA ने हमारी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया. उन्होंने कहा कि अगर उन्हें इस प्रकरण (रैली में आमंत्रित नहीं किए जाने पर) से अपमान महसूस हो रहा है, तो वे अपमान महसूस करते रहें. मिश्रा का कहना था कि चूंकि प्रियंका गांधी वाड्रा पूर्वी U P की प्रभारी हैं, लिहाजा हम उनसे शिकायत करने पहुंचे थे.

कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद नीलम मिश्रा ने दावा किया कि वह सपा-बसपा के साझा उम्मीदवार रंगनाथ मिश्रा का समर्थन करेंगी. रविवार को उन्होंने प्रियंका पर आरोप लगाया कि वह कार्यकर्ताओं के साथ सही से पेश नहीं आ रही हैं और उन्हें हतोत्सहित करने का कर रही हैं. वहीं, भदोही के उपजिलाध्यक्ष ने कहा कि नीलम मिश्रा और उनके अन्य सहयोगियों ने जल्दबाजी में फैसला लिया है. चुनाव खत्म होने तक मामले को लेकर इंतजार करना होगा.