हिन्दू पति पत्नी बनकर चला रहे थे जिस्मफरोशी का धंधा,जांच में मोहम्मद इम्तियाज़ और नाज़नीन बेगम निकले

0
1978
मध्यप्रदेश  के जबलपुर (Jabalpur) में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. खबर है कि यहां एक आलीशान फ्लैट में जिस्मफरोशी (Sex Racket) का धंधा चल रहा था. जहां पुलिस ने एक हिंदूवादी संगठन से सूचना मिलने के बाद रेड डाली. लेकिन इस केस में पुलिस के होश तब उड़े जब उन्हें पता चला कि सेक्स रैकेट चलाने वाले हिन्दू आरोपी असल में मुस्लिम हैं.
दरअसल विजय नगर एमआर 4 रोड पर स्थित मुस्कान प्लाज़ा में पुलिस ने एक फ्लैट से 4 लड़के और लड़कियों को हिरासत में लिया. हिंदूवादी संगठन ने पुलिस को शिकायत की थी कि फ्लैट में रहकर कुछ लड़के और लड़कियां सेक्स रैकेट चला रहे हैं. जिसके बाद हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं को साथ लेकर पुलिस ने फ्लैट में छापा मारा और रैकेट का भंडाफोड़ किया.
कांग्रेस नेता की मौजूदगी ने फैलाई सनसनी
इस घटना का मुख्य पहलू यह है कि कांग्रेस नेता भी मौके पर मौजूद मिले और उन्हीं के फ्लैट में सेक्स रैकेट चलने की जानकारी दी गई. हालांकि पुलिस इस मामले में जांच के बाद ही कुछ बताने की बात कर रही है.
महिला थाने में हुई पूछताछ
विजय नगर पुलिस ने मौके से पकड़े गए लड़के और लड़कियों को महिला थाने के सुपुर्द कर दिया है, जिनसे पूछताछ की गई तो महिला ने अपने बयानों में कबूल किया है कि उसका असली नाम नाजनीन है और उसके पति का नाम इम्तियाज है, जो हिन्दू बनकर ये धंधा चला रहे थे. आरोपी महिला ने बताया कि दोनों मिलकर महीनों से ये सेक्स रैकेट चला रहे थे. पुलिस ने सभी के मोबाइल जब्त कर लिए हैं, जिनकी कॉल डिटेल खंगाली जा रही है.
पुलिस ने 2 महिला और 2 पुरुष को मौके से अरेस्ट किया.
हिन्दू संगठनों ने जताई षड्यंत्र की आशंका
मौके पर मौजूद हिंदूवादी संगठनों ने षड्यंत्र की आशंका जताई है. विहिप कार्यकर्ता विकास खरे ने कहा कि पकड़े गए गिरोह के सरगना हिन्दू बनकर अवैध काम कर रहे थे, उन्होंने और भी जघन्य अपराध किए होंगे. इसलिए इस पूरे मामले की गहन जांच होनी चाहिए.