एक ही परिवार के 6 लोग की हत्या,हत्यारी बहु ने सायनाइड देकर मारा,मानसिक रोगी या घोर शातिर

0
4270
केरल के कोझिकोड में 14 साल के अंतराल में एक ही परिवार के छह सदस्यों की एक ही तरह से रहस्यमय मौत के मामले में भयावह खुलासा सामने आया है। मामले की जांच कर रही एसआईटी ने बताया है कि मामले की मुख्य आरोपी जॉली को लड़कियों से नफरत थी। यहां तक कि उसने अपने पहले पति रॉय थॉमस की बहन की दो साल की बेटी को भी जहर देने की कोशिश की थी। हाल ही में एसआईटी ने जॉली का बयान दर्ज किया है।
6 सदस्यों की मौत: पुलिस लेगी विदेशी फरेंसिक लैब की मदद
कॉमर्स ग्रैजुएट जॉली ने एसआईटी की पूछताछ में दावा किया कि उसके पास इंजिनियरिंग की भी डिग्री है। उसने जांचकर्ताओं को यहां तक बताया कि वह एनआईटी में पढ़ाती थी। हालांकि संस्थान ने उसके दावों को निराधार करार दिया।
वह इस साल 5 अक्टूबर को केरल पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए तीन लोगों में शामिल है। शुरुआत में, पुलिस ने उसके पहले पति रॉय थॉमस की मौत के सिलसिले में उससे पूछताछ की थी, जो 2011 में साइनाइड युक्त भोजन का सेवन करने के बाद मर गए थे। इसके बाद एसआईटी ने खुलासा किया कि मामले में पहली मौत 2002 की है जब जॉली के ससुराल वाले अन्नाममा थॉमस और टॉम थॉमस की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।
जॉली ने की है हत्या
उधर, पुलिस का दावा है कि 14 वर्षों में मुख्य आरोपी महिला जॉलीअम्मा जोसेफ ने सायनाइड देकर सभी की हत्या की है। पुलिस के मुताबिक जॉलीअम्मा ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है। उन्होंने बताया कि तीनों को फिलहाल केवल जॉली के पति रॉय थॉमस की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस सभी 6 हत्या के मामले में जॉली के खिलाफ सबूत जुटाने में लगी है। जॉली के अलावा गिरफ्तार किए गए दो अन्य आरोपियों एमएस मैथ्यू और प्राजी कुमार पर जॉली को सायनाइड उपलब्ध कराने का आरोप है।
रॉय की बॉडी में पाया गया था सायनाइड
कोझिकोड जिले के ग्रामीण इलाके के प्रभारी केजी साइमन ने बताया कि रॉय की मौत के बाद उनके शव का परीक्षण कराया गया था। इस दौरान उनके शरीर में सायनाइड पाया गया था। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और जल्दी ही आरोपियों पर पांच अन्य हत्याओं के लिए भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। बता दें कि रॉय थॉमस की मौत साल 2011 में हुई थी।
सब मान रहे थे नैचुरल डेथ
रॉय की मां अनम्मा की साल 2002 में, उनके पिता टॉम थॉमस की साल 2008 में, चाचा मैथ्यू मंचडी की साल 2014 में और उनके चचेरे भाई शाजू की पत्नी सिली की साल 2016 में और उनकी भतीजी अल्फाइन की साल 2014 में मौत हुई थी। 14 साल की अवधि के भीतर हुई इन 6 मौतों को लोग अब तक प्राकृतिक मानते रहे थे।
केरल के कोझीकोड जिला स्थि‍त कूडाथायी गांव में परिवार के 6 सदस्‍यों को जहर देने के आरोप में जॉली शाजु को गिरफ्तार कर लिया गया है। शाजु ने अपना अपराध स्‍वीकार कर लिया है क‍ि उसने ही सबकी हत्‍या की थी। वर्ष 2002 और 2016 में परिवार के 6 सदस्‍यों की मौत हो गई थी। 14 सालों में एक परिवार के 6 सदस्‍यों के मौत मामले की जांच के लिए स्‍पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (SIT) में एक्‍सपर्ट अधिकारियों को  शामिल किया जाएगा। यह फैसला पुलिस ने लिया है। राज्‍य के पुलिस चीफ लोक नाथ बेहेरा ने मंगलवार को यह जानकारी दी।
दफन किए गए शवों को निकालकर जांच की गई और यह बात सामने आ गई है कि इन सबकी मौत सायनाइड जहर के कारण हुआ है। बताया जा रहा है क‍ि विश्‍लेषण के लिए  पुलिस देश के सबसे अच्‍छे लैब की मदद लेगी।  जरूरत पड़ने पर विदेशी लैब से भी संपर्क करने की कोशिश की जाएगी।
पहली मौत जॉली की मदर इन लॉ (सास) की थी, जिसे अब मर्डर माना जा रहा है। हाल में इस परिवार के रिश्‍तेदार की मौत हुई जो दो साल के बच्‍चे की मां थी। मामले की जांच कर रहे अधिकारी ने बताया कि जॉली ने उनकी हत्‍या प्रॉपर्टी हथियाने के लिए की।
उन्‍होंने बताया कि मामले की पूरी जांच व विश्‍लेषण के बाद यह पता चला क‍ि सभी की मौत सायनाइड के कारण हुई। पुलिस ने सोमवार को एक ज्‍वेलरी की दुकान के स्‍टाफ एमएस मैथ्‍यू और प्राजीकुमार के साथ जॉली को गिरफ्तार कर लिया। प्राजीकुमार ने ही जॉली को सायनाइड भेजा था। मैथ्‍यू और प्राजीकुमार की जॉली के साथ लंबे समय से जान पहचान है। पुलिस ने बताया क‍ि उनकी सास अनम्‍मा थॉमस की हत्‍या इसलिए हुई क्‍योंकि वह परिवार में सबसे अहम शख्‍स थीं। परिवार के सभी मामले वहीं देखतीं थी। 2008 में उसके फादर इन लॉ (ससुर)टॉम थॉमस की हत्‍या हुई। मौत के ये सभी मामले संपत्‍त‍ि हथियाने के लिए की गई। 2011 में उसके पति की मौत हो गई। ऑफिसर ने बताया क‍ि उन दोनों के संबंध काफी खराब हो चुके थे जिसका परिणाम उनकी मौत थी।तीन सालों बाद अन्‍नाम्‍मा के भाई की मौत हुई जो जॉली के पत‍ि के मृत शरीर का पोस्‍टमार्टम करवाने की मांग कर रहे थे। पुलिस ने कहा, ‘मैं अभी नहीं बताना चाहता कि यह मौत कैसे हुई, हम अभी भी कुछ और जानकारी का इंतजार कर रहे हैं।’