Sunday, August 7, 2022
Uncategorized

उद्धव ठाकरे की शिवसेना की दुर्गति,महाराष्ट्र ने शिंदे को माना असली बाला साहेब ठाकरे का उत्तराधिकारी,सिर्फ बेटा होने से योग्यता नही आ जाती

महाराष्ट्र में बीते दिनों उठे सियासी तूफान के बाद एकनाथ शिंदे जहां मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज हो पाने में सफल रहे, तो वहीं दूसरी तरफ से उद्धव ठाकरे की नईया डूब गई। उद्धव ठाकरे की ऐसी दुर्गति हो चुकी है कि उन्हें कुछ समझ ही नहीं आ रहा है कि क्या किया जाए। उन्हें लगातार झटके पर झटका ही लगता जा रहा है। पहले मुख्यमंत्री की कुर्सी हाथ से जाने के बाद उन्हें बड़ा झटका लगा। वहीं, इसके बाद उनके खिलाफ जिस तरह से उनके अपने ही लोगों ने बगावत का बिगुल फूंक दिया, उससे उन्हें बड़ा झटका लगा। उधर, अब शिवसेना पर भी उनका मालिकाना हक ज्यादा दिनों तक रहने वाला है की नहीं। यह कह पाना भी मुश्किल है और अब इसी बीच तीसरा झटका महाराष्ट्र पंचायत चुनाव में लगा है।

BJP leader Devendra Fadnavis and Eknath Shinde

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में शिंदे गुट और बीजेपी जलवा चौतरफा देखने को मिल रहा है। शिंदे गुट का दावा है कि हाल में हुए ग्राम पंचायत चुनावों में उनकी बड़ी जीत हुई है। 62 तालुकों की लगभग 271 ग्राम पंचायतों में गुरुवार को मतदान हुआ। इनके नतीजे शुक्रवार को घोषित किए गए। एकनाथ शिंदे का दावा है कि बीजेपी और शिवसेना (शिंदे गुट) को बड़ा फायदा हुआ है। ध्यान रहे कि शिंदे गुट और बीजेपी की सरकार बनने के बाद यह महाराष्ट्र का पहला स्थानीय निकाय चुनाव हुआ है, जिसमें बीजेपी ने कमाल का प्रदर्शन किया है और उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका लगा है।

BJP and Congress

इसके अलावा इस जीत पर उद्धव ठाकरे ने खुद ट्वीट कर बधाई दी है, जिसमें उन्होंने कहा कि “लोगों ने राज्य में ग्राम पंचायत चुनाव में शिवसेना-भाजपा गठबंधन सरकार को वोट दिया है। शिवसेना-भाजपा गठबंधन के सभी विजयी उम्मीदवारों को बधाई। चुनाव में कड़ी मेहनत करने वाले भाजपा-शिवसेना गठबंधन के सभी अधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बधाई और धन्यवाद।” उधर, पंचायत चुनाव में हुई इस जीत पर महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, ‘ग्राम पंचायत चुनाव में भी बीजेपी नंबर वन पार्टी है। बीजेपी और मुख्यमंत्री एकनाथराव शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना को राज्य के मतदाताओं ने बड़ी सफलता दिलाई है। उन्होंने आगे कहा कि आपका बहुत-बहुत धन्यवाद! बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांतादा पाटिल और हर कार्यकर्ता को हार्दिक बधाई! वहीं, अगर विभिन्न दलों को मिले सीटों की बात करें, तो पंचायत चुनाव में बीजेपी 82 सीटों पर जीत हासिल करने में कामयाब रही। उधर, शिंदे गुट 40 सीटों पर विजयी पताका फहराने में सफल रहा है। इसके अलावा एनसीपी 53 सीटों पर जीत हासिल करने में सफल रही है। कांग्रेस को 22 तो अन्य दलों ने 47 सीटों पर जीत हासिल की है।

Leave a Reply