Thursday, August 13, 2020
Uncategorized

कंगना रनौत के घर पर गोलियां चलाई: करन जौहर और आदित्य ठाकरे के गहरे सम्बंध उजागर किये थे

कंगना रनौत ने खुलासा किया था आदित्य ठाकरे और करन जौहर के गहरे सम्बन्धो का।
 कंगना रनौत की टीम ने शुक्रवार (जुलाई 31, 2020) देर रात पुलिस में शिकायत दर्ज की है कि उनके मनाली स्थिति घर के पास फायरिंग की आवाज सुनी गई। कंगना रनौत इन दिनों मनाली में अपने परिवार के साथ घर पर हैं और अभिनता सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस में मुखर होकर अपनी आवाज उठा रही हैं।
कंगना की टीम ने बताया है कि फायरिंग की आवाज के बाद कुल्लू पुलिस कंगना के घर पहुँच गई है। हालाँकि शुरुआती जाँच में पुलिस को कोई भी सबूत नहीं मिले हैं। लेकिन कंगना का कहना है कि यह उन्हें डराने की कोशिश के तहत किया गया है। इसके बाद पुलिस ने एक टीम कंगना के घर पर सुरक्षा के लिए लगा दी है।
कंगना रनौत ने इस मामले में बात करते हुए कहा, “मैं अपने बेडरूम में थी और रात लगभग 11.30 बजे मुझे पटाखों जैसी अवाज सुनाई दी। पहले मुझे लगा कि किसी ने पटाखा चलाया है लेकिन जब दूसरी बार अवाज आई तो मैं सचेत हो गई क्योंकि यह गोली चलने की आवाज थी। इस समय मनाली में टूरिस्ट भी नहीं आते हैं तो कोई पटाखा भी नहीं चलाएगा। इसलिए मैंने तुरंत सिक्यॉरिटी को बुलाया।”
वो आगे कहती हैं, “मैंने जब उनसे पूछा तो उन्होंने बताया कि हो सकता है कि कुछ बच्चे हों। हम जाकर देखेंगे कि यह पटाखों की आवाज है या किसी और चीज की। हो सकता है कि उन्होंने कभी बुलेट (गोली) की आवाज ना सुनी हो लेकिन मैंने सुनी है। वो देखने के लिए गए लेकिन कोई मिला नहीं। हम यहाँ पांँच लोग थे। जो लोग मेरे साथ थे, सबको यही लगता है कि यह गोली की आवाज थी। यह पटाखों की आवाज नहीं थी और इसलिए हमने पुलिस को बुलाया।”
कंगना ने आगे कहा, “पुलिस ने कहा कि शायद कोई चमगादड़ को मारने की कोशिश कर रहा हो क्योंकि चमगादड़ सेब की खेती को नुकसान पहुँचाते हैं। शनिवार सुबह हमने सेब के बगीचे के मालिक को बुलाया लेकिन उनका कहना था कि उन्होंने कोई गोली नहीं चलाई। इसलिए हमें लगता है कि यह हमें डराने के लिए किया गया था।”
कंगना ने ये भी आरोप लगाया है कि उनके पॉलिटिकल कॉमेंट के कारण यह सब हो रहा है। कंगना ने यह भी दावा किया कि यह किसी विदेशी हथियार से चलाई गई गोली थी। कंगना का यह भी कहना है कि इसके बाद भी वह डरेंगी नहीं।
अभिनेत्री ने आरोप लगाया कि उनको डराने के लिए उन लोगों के द्वारा गोलियाँ चलाई गईं, जिन्हें उनके ‘गुंडागर्दी’ के लिए जाना जाता है। उन्होंने दावा किया कि एक मुख्यमंत्री के बेटे के खिलाफ उनकी टिप्पणी ने राजनीतिक समूह को परेशान कर दिया होगा। कंगना रनौत ने आरोप लगाया कि उनके घर के पास आने के लिए किसी को 7000-8000 देकर ये काम सौंपा गया होगा।
वो कहती हैं कि मुख्यमंत्री के बेटे के खिलाफ बोलने के बाद ये होगा, यह कोई संयोग नहीं है। उनसे अब लोग कह रहे हैं कि अब वो लोग उनका मुंबई में रहना मुश्किल कर देंगे।
उन्होंने दावा किया कि सुशांत सिंह राजपूत को भी इसी तरह से डराया गया होगा। कंगना ने कहा कि वह उनकी रहस्यमयी मौत के बारे में सवाल पूछती रहेंगी। उन्होंने कहा कि पिछले काफी दिनों से मिल रही धमकियों से डरे उनके बूढ़े माता-पिता अब उन पर इस मामले में न बोलने के लिए दबाव डाल रहे हैं।
मनाली पुलिस स्टेशन के एसएचओ, संदीप पठानिया ने कहा, “रात में पुलिस की तैनाती हुई थी। लेकिन अब, शुरुआती जाँच के बाद, उस क्षेत्र में गश्त करने वाले कर्मचारियों को सतर्क रहने का निर्देश दिया गया है। क्षेत्र के बीट कर्मचारी नियमित रूप से स्थिति का जायजा लेंगे। वे नियमित अंतराल पर कंगना के कर्मचारियों के साथ समन्वय करेंगे।”
गौरतलब है कि अभिनेत्री कंगना रनौत ने उद्धव ठाकरे की शिवसेना-एनसीपी-कॉन्ग्रेस सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में मुंबई पुलिस फिल्म निर्देशक करण जौहर को कभी पूछताछ के लिए नहीं बुलाएगी, क्योंकि वे आदित्य ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं।
टीम कंगना ने कहा था, “वे उन्हें कभी नहीं बुलाएँगे, क्योंकि वे आदित्य ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं। यह उनकी सरकार है और उन्होंने कंगना के इंटरव्यू से पहले ही यह केस बंद कर दिया। यह इस बात का सबूत है कि वे अपने दोस्तों को बचा रहे हैं।”

Leave a Reply