Wednesday, October 20, 2021
Uncategorized

अब तक 8 इस्लामी आतंकवादियों के चिथड़े,छलनी किये नमकहरामो के जिस्म

कश्मीर घाटी में आतंकियों का सफाया जारी है। बुधवार (13, अक्टूबर, 2021) को सुरक्षा बलों ने पुलवामा के त्राल इलाके में हुए एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्‍मद के टॉप कमांडर शम सोफी को मार गिराया। यह सुरक्षा बलों की बड़ी सफलता है। अभी भी यहाँ मुठभेड़ जारी है।

रिपोर्ट के अनुसार, पिछले तीन दिनों में सुरक्षाबलोें और आतंकवादियों के बीच यह छठी मुठभेड़ है। यही नहीं सुरक्षाबलों ने इस दौरान अभी तक आठ आतंकियों को ढेर कर दिया है। जम्‍मू कश्‍मीर के आईजी विजय कुमार ने जैश कमांडर के मारे जाने की पुष्टि की है।

आईजीपी कश्मीर, विजय कुमार ने बताया, “त्राल मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया है जिसकी पहचान शमीम सोफी के नाम से हुई है इसको हम शम सोफी के नाम से जानते हैं। ये जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर है। इसको हमने पहले 2004 में गिरफ़्तार किया था, इसने पीएसए के तहत 2 साल जेल में बिताए। जेल से बाहर आने के बाद फिर ये सक्रिय हो गया था, साल 2019 के जून में शम सोफी पूरी तरह सक्रिय हो गया था। उसके बाद उसने कई हत्याएँ की। ये बाहर से आए जैश के आतंकियों को पनाह देता था। हमें 2 आतंकवादी की सूचना मिली थी जिसमें से कमांडर मारा गया और दूसरी की तलाशी की जा रही है।”

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के अवंतीपुरा के त्राल इलाके के तिलवानी मोहल्ला वाग्गड़ में आतंकियों की मौजूदगी के बारे में गुप्त सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने वहाँ घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के सुरक्षाबलों पर गोलीबारी के बाद अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि आतंकवादी की पहचान जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर शम सोफी के तौर पर हुई है। उन्होंने ट्वीट किया, “जैश-ए-मोहम्मद का शीर्ष कमांडर शम सोफी मुठभेड़ में मारा गया।”

सुरक्षाबलों का कहना है कि जवाबी कार्रवाई शुरू करने से पहले उन्होंने आतंकियों को हथियार डालने के लिए कहा था परंतु जब वे नहीं माने तो उन्हें भी गोलीबारी शुरू करनी पड़ी। दोनों ओर से गोलीबारी का सिलसिला जारी है। घेराबंदी में दो से तीन आतंकियों के फँसे होने की आशंका है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर एसओजी, सेना और सीआरपीएफ का एक दल अवंतीपोरा त्राल के तिलवानी मुहल्ला में पहुँचा और तलाशी अभियान शुरू कर दी। सूचना मिली थी कि मुहल्ले में दो से तीन आतंकवादियों ने प्रवेश किया है। सूचना के आधार पर जैसे ही सुरक्षाबलों ने मुहल्ले की घेराबंदी के साथ तलाशी अभियान शुरू किया। एक मकान में छिपे आतंकियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी।

गौरतलब है कि आतंकी हमले में एक जेसीओ समेत पाँच भारतीय जवानों के बलिदान होने के बाद सुरक्षाबल लगातार आतंकियों की खोज में तलाशी अभियान चला रहे हैं। एक दिन पहले 12 अक्‍टूबर को शोपियाँ जिले में दो अलग-अलग मुठभेड़ों में पाँच आतंकवादी मारे गए। इनमें से एक आतंकवादी हाल में श्रीनगर में बिहार के एक फेरी वाले की हत्या में शामिल था।

Leave a Reply