तलाक न देने पर जिंदा जलाया

781
बिहार के भागलपुर जिले में एक हृदयविदारक घटना घटी है। यहाँ बुधवार (जुलाई 3, 2019) को तलाक न देने की वजह से एक मुस्लिम महिला को उसके पति मोहम्मद सनोवर ने जिंदा जला दिया। जानकारी के अनुसार महिला का शरीर 80 प्रतिशत झुलस चुका है और उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है।
पीड़िता के बयान के आधार पर उसके ससुराल से जेठ, पति, सास और ननद पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, लेकिन गिरफ्तारी अभी सिर्फ़ सनोवर की ही हो पाई है, क्योंकि बाकी आरोपित फरार हैं।
दैनिक जागरण के भागलपुर संस्करण में प्रकाशित खबर
दैनिक जागरण की खबर के अनुसार यह मामला नवगछिया के खड़ीक थाना क्षेत्र के पूर्वी घरारी गाँव का है। यहाँ अवैध संबंध को लेकर विवाद में मोहम्मद सनोवर नामक व्यक्ति ने अपनी पत्नी बेगम खातून उर्फ़ बेबी को आग में झोंक दिया। जब बेबी बुरी तरह जल गई तो उसके ससुराल वाले उसे ठिकाने लगाने की तैयारी करने लगे, लेकिन तभी बेबी के पिता व अन्य परिजन वहाँ पहुँच गए। जिसके बाद उन्हें देखकर ससुराल के सभी लोग मौक़े से फरार हो गए। महिला को खड़ीक के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया। यहाँ मौजूद डॉक्टरों ने महिला को प्राथमिक उपचार दिया और फिर उसे मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया।
खबरों के मुताबिक मोहम्मद सनोवर को महिला के मायके वालों के सहयोग से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बाकियों की तलाश अभी जारी है। सनोवर ने पुलिस से पूछताछ में बताया है कि बेबी ने उसे सब्जी लेने भेजा था और बाद में खुद ही को आग लगा ली। जबकि बेबी के पिता फारूख शेख ने बताया है कि 13 साल पहले उन्होंने अपनी बेटी का निकाह सनोवर से करवाया था, लेकिन शादी के कुछ साल बाद ही उनके बीच विवाद शुरू हो गए।
फारूख शेख ने बताया कि सनोवर के अपनी भाभी के साथ अवैध संबंध थे, जिसके कारण वह अपने 2 बच्चों के साथ 3 साल से मायके में रहती थी। 10 दिन पहले ही दोनों पक्षों के बीच समझौते के बाद बेबी को उसके ससुराल वाले अपने साथ घरारी ले गए थे लेकिन बुधवार को उस पर तलाक देने का दबाव बनाया जाने लगा और तलाक देने से मना करने पर उसे आग के हवाले कर दिया।