Sunday, August 2, 2020
Uncategorized

BREAKING NEWS[LIVE VIDEO】 :सुशांत सिंह की मौत की जांच करने पहुंचे आईपीएस विनय तिवारी को 14 दिन क़ुरएन्टाइन में डालने की खबर,अब जांच उसके बाद

सूत्रों ने बताया है कि आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी जो कि सुशांत सिंह की मौत की ज़ाच के लिए पहुंचे थे को मुम्बई में कवरेन्टीन कर दिया गया है।उसके समय पूरा होने के बाद ही जांच शुरू कर पाएंगे।

 

मुंबई में दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के सुसाइड मामले की जांच करने अब पटना के सिटी एसपी आईपीएस ऑफिसर विनय तिवारी भी मुंबई पहुंचे चुके हैं, हालांकि बिहार पुलिस की एक टीम पहले से मुंबई में इस मामले की जांच में जुटी हुई है. इस दौरान जब विनय तिवारी से सवाल किया गया कि क्या रिहा चक्रवर्ती गायब हैं या उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है, तो उन्होंने बताया कि जब हमें रिहा चक्रवर्ती से पूछताछ करनी होगी, तो हम उनसे बात कर लेंगे.विनय तिवारी ने आगे बताया, ‘हमारी जांच बिलकुल सही दिशा में जा रही है. अगर जरूरत हुई तो हम पुराने मामलों को भी इस मामले से जोड़कर अपनी जांच करेंगे. ये बात सही है कि इस केस जुड़े कई जरूरी कागज और दस्तावेज हमें नहीं मिले हैं, लेकिन मुंबई पुलिस से हमें सहयोग मिल रहा है. मेरी कोशिश है कि ये सब हमें मिल सके.’

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच कर रही पटना पुलिस को अब तक कई अहम सुराग मिले हैं। अब तक दर्ज किये लोगों के बयान से एसआईटी को यह पता चला है कि 9 से 13 जून के बीच सुशांत सिंह के मोबाइल में 14 सिम बदले गए थे।
फुटेज का नहीं चल रहा पता :
बताया यह भी जा रहा है कि सोची समझी साजिश के तहत घटना के बाद बांद्रा सोसाइटी समेत सुशांत के फ्लैट में लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज मुंबई पुलिस व साजिशकर्ताओं ने अपने कब्जे में ले लिया। शायद यही वजह है कि पटना एसआईटी को अब तक फुटेज समेत अन्य इलेक्ट्रोनिक्स सबूत नहीं मिल सके हैं। इसकी पुष्टि बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने खुद की है।
पोस्टमार्टम पर भी उठ रहे सवाल
जांच के चलते परत-दर-परत कलई खुलकर सामने आ रही है। अब सुशांत सिंह के पोस्टमार्टम पर भी सवाल खड़े किये जा रहे हैं। सीबीआई जांच की मांग करने वाले तमाम लोगों का कहना है कि नियमत पोस्टमार्टम के लिए सुबह 6 से शाम 6 बजे तक का ही समय निर्धारित है। विशेष परिस्थिति में मजिस्ट्रेट के आदेश पर ही रात में पोस्टमार्टम किया जाता है। मगर बांद्रा पुलिस ने इसकी परवाह किए बिना सुशांत के शव का पोस्टमार्टम रात में एक घंटे के बीच करा दिया।
एसआईटी को नहीं दी गयी है कोई सुरक्षा
एसआईटी को किसी तरह की सुरक्षा मुंबई पुलिस ने नहीं दी है। विशेष पुलिस टीम के चारों अफसर अकेले ही सभी जगहों पर इस केस से जुड़े लोगों का बयान लेने जा रहे हैं। इसके अलावा जिन लोगों से पूछताछ करनी है उनसे बातचीत करने में एसआईटी की कोई मदद मुंबई पुलिस नहीं कर रही है।
कोटक महिंद्रा बैंक के खाते के डिटेल से कई खुलासे :
रिया अक्सर सुशांत के घर में पूजा-पाठ कराती थी। एक महीने में तीन से चार बार पूजा-पाठ होते थे। इसके लिए सामान खरीदने के लिए पैसे का भुगतान सुशांत के खाते से होता था। वर्ष 2019 के 14 जुलाई से 15 अगस्त तक तीन बार सुशांत के खाते से पंडित को देने के लिए रुपये निकाले गए। गौर हो कि सुशांत के पिता ने अपने केस में भी इसका जिक्र किया था कि रिया उनके बेटे के घर पूजा-पाठ कराती थी। भूत-प्रेत की बात कहकर सुशांत को डराया जाता है। बैंक खाते के स्टेटमेंट से एफआईआर में लिखी बातों को बल मिलता है।
सामने आते जा रहे सबूत
सुशांत प्रकरण में धीरे-धीरे सारे सबूत सामने आते जा रहे हैं। बैंक खाते के स्टेटमेंट ने काफी कुछ बयां कर दिया है। पटना पुलिस की जांच में ये सारी बातें और सबूत भी बेहद अहम हैं। कानून के जानकार बताते हैं कि इससे आगे की कार्रवाई करने में पुलिस टीम को आसानी होगी।
तारीख                     रुपये                 कहां गये रुपये
14 जुलाई 2019         45 हजार           पूजा-पाठ की सामग्री खरीदी गयी
दो अगस्त 2019         86 हजार            पूजा-पाठ की सामग्री खरीदी गयी
आठ अगस्त 2019      11 हजार            पंडित को रुपये दिये गए
15 अगस्त 2019         60 हजार           पूजा पाठ की सामग्री खरीदी गयी
बिहार पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने रविवार को बताया कि पटना नगर (पूर्वी) पुलिस अधीक्षक विनय तिवारी को मुंबई भेजा गया है. उन्होंने कहा कि फिलहाल एक अधिकारी को भेजा गया है और आगे अगर फिर जरूरत पडेगी तो अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी भेज जाएंगें.
इससे पहले बिहार से मुंबई गई चार सदस्यीय टीम को मुंबई पुलिस द्वारा मदद नहीं मिलने का आरोप लगाता रहा है. पुलिस मुख्यालय का कहना है कि कई मामलों में उन्हें मुंबई पुलिस से कोई सहयोग नहीं मिल रहा है, इसलिए पटना के नगर (पूर्वी) पुलिस अधीक्षक को मुंबई भेजा जा रहा है, जिससे सुशांत सुसाइड मामले में मुबंई में जांच कर रही बिहार पुलिस की टीम को कुछ मदद मिल सके.
शनिवार को पुलिस महानिदेशक पांडेय ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए खुलकर कहा था कि सुशांत मामले को लेकर बिहार पुलिस सच सामने लाएगी. उल्लेखनीय है कि पटना के रहने वाले सुशांत का शव उनके मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में 14 जून को मिला था. इसके बाद इस मामले की जांच मुबई पुलिस कर रही थी.

Leave a Reply