Wednesday, December 9, 2020
Uncategorized

रोज बलात्कार करते हैं इमाम कहीं न कहीं बच्चों के साथ-तस्लीमा नसरीन, मचा बवाल बयान पर

तसलीमा नसरीन (जन्म : २५ अगस्त १९६२) बांग्ला लेखिका एवं भूतपूर्व चिकित्सक हैं जो १९९४ से बांग्लादेश से निर्वासित हैं। १९७० के दशक में एक कवि के रूप में उभरीं तसलीमा १९९० के दशक के आरम्भ में अत्यन्त प्रसिद्ध हो गयीं। वे अपने नारीवादी विचारों से युक्त लेखों तथा उपन्यासों एवं इस्लाम एवं अन्य नारीद्वेषी मजहबों की आलोचना के लिये जानी जाती हैं।उन्होंने 1990 के दशक की शुरुआत में अपने निबंधों और उपन्यासों के कारण वैश्विक ध्यान प्राप्त किया, जो नारीवादी विचारों और आलोचनाओं के साथ था कि वह इस्लाम के सभी “गलत” धर्मों के रूप में क्या करती हैं। वह प्रकाशन, व्याख्यान और प्रचार द्वारा विचारों और मानवाधिकारों की आजादी की वकालत करती है।

 

Taslima Nasrin ने कहा- ‘Bangladesh की मस्जिदों में बच्चों के साथ हर दिन रेप करते हैं इमाम’

बांग्लादेश (Bangladesh) मूल की तसलीमा नसरीन (Taslima Nasrin) धर्म के रीति-रिवाजों के नाम पर होने वाले पाखंडों के खिलाफ सवाल उठाती रहती हैं. इस वजह से तसलीमा नसरीन के खिलाफ कई बार फतवा जारी हो चुका है और उन्हें हत्या की धमकी भी मिल चुकी है.

नई दिल्ली: धर्म पर कटाक्ष, विवादित टिप्पणी और अपने लेखन के लिए प्रसिद्ध लेखिका तसलीमा नसरीन (Taslima Nasrin) अपने एक बयान को लेकर फिर से चर्चा में हैं. तसलीमा नसरीन (Taslima Nasrin) ने आरोप लगाया है कि बांग्लादेश के मस्जिद-मदरसों में हर दिन बलात्कार होते हैं. तसलीमा नसरीन ने ट्विटर पर अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए बांग्लादेश के मस्जिद-मदरसों पर तंज कसा है.
तसलीमा नसरीन (Taslima Nasrin) ने ट्वीट में लिखा, ‘बांग्लादेश की मस्जिदों और मदरसों में इमाम व मदरसों के टीचर हर दिन बच्चों के साथ बलात्कार करते हैं. वो अल्लाह के नाम पर रेप करते हैं. वो जानते हैं कि अल्लाह दयावान है, अल्लाह केवल इसलिए उनके पापों को माफ कर देगा कि वो दिन में 5 बार नमाज पढ़ते हैं.’

गौरतलब है कि बांग्लादेश (Bangladesh) मूल की तसलीमा नसरीन (Taslima Nasrin) धर्म के रीति-रिवाजों के नाम पर होने वाले पाखंडों के खिलाफ आवाज उठाती रहती हैं. इस वजह से वो कई बार कट्टरपंथियों के निशाने पर भी रहती हैं. तसलीमा नसरीन के खिलाफ कई बार फतवा जारी हो चुका है और उन्हें हत्या की धमकी भी मिल चुकी है.

इस वजह से ही तसलीमा नसरीन को अपने देश बांग्लादेश से निर्वासित होना पड़ा था. वो इस समय भारत में रह रही हैं.
इससे पहले ऑस्कर अवॉर्ड विनर संगीतकार एआर रहमान (AR Rahman) की बेटी खतीजा (Khatija Rahman) पर दिए बयान को लेकर तस्लीमा नसरीन सुर्खियों में रही थीं. तस्लीमा नसरीन (Taslima Nasreen) ने सोशल मीडिया पर एआर रहमान (AR Rahman) की बेटी खतीजा (Khatija Rahman) के बुर्का पहनने को लेकर बयान दिया था.

 

Leave a Reply